The most mysterious death in cricket history, a year and a half after Tertius Bosch body had to be removed from the grave

टेरटियस बॉश्‍क (Tertius Bosch) साउथ अफ्रीका (South Africa) के तेज गेंदबाज थे।

    मुंबई. क्रिकेट जगत में कई ऐसे खिलाड़ी है, जिनके बेहतरीन खेल के वजह से वह सुर्खियों में रहते हैं। लेकिन, एक ऐसा खिलाड़ी है जिसके करियर और खेल से ज्‍यादा चर्चा उसकी मौत को लेकर हुई। इस खिलाड़ी का नाम टेरटियस बॉश्‍क (Tertius Bosch) था।

    टेरटियस बॉश्‍क  (Tertius Bosch) साउथ अफ्रीका (South Africa) के तेज गेंदबाज थे। टेरटियस बॉश्‍क का जन्म 14 मार्च 1966 को हुआ था। वहीं, उनकी मौत 2000 में हुई थी। इस तेज गेंदबाज की मौत को क्रिकेट जगत की सबसे रहस्यमयी मौत माना जाता है। बॉश्‍क की मौत के करीब डेढ़ साल बाद उनके शव को कब्र से निकालना पड़ गया था। 

    टेरटियस बॉश्‍क (Tertius Bosch) ने साल 1986-87 के सीजन में फर्स्‍ट क्‍लास क्रिकेट में अपना डेब्‍यू किया। उन्होंने नॉर्दर्न ट्रांसवेल की तरफ से अपना डेब्यू मैच खेला था। इसके बाद टेरटियस बॉश्‍क ने साउथ अफ्रीका की तरफ से खेलना शुरू किया। उन्होंने  साल 1992 में वेस्‍टइंडीज  के खिलाफ टेस्‍ट डेब्‍यू किया।

    इस मैच की पहली पारी में बॉश्क (Tertius Bosch) ने एक विकेट लिया तो दूसरी पारी में दो शिकार किए। हालांकि इससे पहले 29 फरवरी और 12 अप्रैल 1992 को बॉश्क साउथ अफ्रीका के लिए दो वनडे मैच भी खेल चुके थे। उन्होंने अपना पहला वनडे न्यूजीलैंड के खिलाफ खेला था तो दूसरा वेस्‍टइंडीज के। इसके बाद बॉश्क अपना कमाल नहीं दिखा पाए। 

    टेरटियस (Tertius Bosch) अपने करियर में अच्छा कर रहे थे। जब लगा कि, यह खिलाडी कुछ नया कर दिखायेगा। तभी उनकी मौत हो गई। बॉश्क की 33 साल की उम्र में मौत हो गई। उनकी अचानक मौत से सभी लोग हैरान हो गए। दरअसल, बॉश्क की मौत रेयर वायरल इंफेक्‍शन की वजह से हुई थी। लेकिन, उनकी मौत के पीछे और एक वजह थी। बॉश्क की मौत के बाद साल 2000 में ही उनकी की बहन ने सुप्रीम कोर्ट में खिलाड़ी की विधवा को संपत्ति पर अधिकार जताने से रोकने की सफल याचिका दायर की। इसके बाद साल 2005 में बॉश्क का शव कब्र से निकाला गया और उसकी फिर से जांच की गई।

    पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट के मुताबिक, बॉश्क (Tertius Bosch) को जहर दिया गया था। इसके बाद सच सामने आया। दरअसल,  टेरटियस को अपनी पत्‍नी पर बेवफाई का शक था। इसके वजह से उन्होंने पत्‍नी पर नजर रखने के लिए एक जासूस को भी नियुक्‍त किया था। इसके बाद  टेरटियस ने अपनी जान को खतरे की आशंका जताई थी। हालांकि, दोबारा शव की जांच करने के बाद भी बॉश्क की मौत का रहस्य सामने नहीं आया। 

    बॉश्‍क ने अपने करियर में साउथ अफ्रीका के लिए एक टेस्‍ट मैच खेला। इस मैच में उन्होंने 3 विकेट लिए। वहीं दो वनडे में उनके खाते में एक भी विकेट नहीं आ सका। इसके अलावा उन्‍होंने जो 68 फर्स्‍ट क्‍लास मैच खेले। जिनमें उन्‍होंने 210 विकेट लिए, जबकि 80 लिस्‍ट ए मैचों में टेरटियस ने 105 विकेट लिए थे।