Virat Kohli breaks Sunil Gavaskar's record, becomes Indian emperor of ICC events

    – विनय कुमार

    भारतीय क्रिकेट टीम के धुरंधर बल्लेबाज और धांसू कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ‘इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल’ (ICC) टूर्नामेंट्स के फाइनल्स में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले भारतीय खिलाड़ी बन गए हैं। उन्होंने टीम इंडिया के पूर्व अलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर (Gautam Gambhir) का रिकॉर्ड तोड़ा। ‘ICC World Test Championship Final 2021’ के मैदान में उतरते ही विराट कोहली सबसे ज्यादा आईसीसी फाइनल्स खेलने वाले भारतीय खिलाड़ियों में दूसरे नंबर पर पहुंच गए। 

    विराट कोहली ने WTC फाइनल मैच के दौरान इंग्लैंड की सरजमीं पर अपने 600 टेस्ट रन भी पूरे किए। क्रिकेट के इतिहास में वे एशिया के ऐसे पहले क्रिकेट कप्तान बन गए हैं, जिन्होंने इंग्लैंड में बतौर कप्तान 600 रन बनाए हैं। आपको याद दिला दें कि WTC FINAL में उतरने से पहले तक कप्तान  विराट कोहली ने इंग्लैंड की जमीन पर अपने टेस्ट करियर में 593 टेस्ट रन बनाए थे। उन्होंने डब्ल्यूटीसी फाइनल में भारत की पहली पारी की बल्लेबाज़ी में न्यूजीलैंड के खिलाफ (India vs New Zealand WTC Final Virat Kohli) पहली पारी में 44 रन बनाए। 44 रनों की इस ताज़ा पारी के बाद अब इंग्लैंड में बतौर कप्तान कोहली के 637 टेस्ट रन हो गए हैं। इस मामले में दूसरे नंबर पर हैं क्रिकेट की दुनिया के Captain Cool के नाम से मशहूर टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और अब तक के सबसे सफल कप्तान रहे महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni)। धोनी ने बतौर कप्तान इंग्लैंड के मैदानों में अपने टेस्ट करियर के दौरान 569 रन बनाए थे। तीसरे नंबर पर 468 रनों के साथ भारत के पूर्व कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन (Mohammed Azharuddin Former Captain Indian Cricket Team), चौथे नंबर पर श्रीलंका के एंजेलो मैथ्यूज (431 रन) और पांचवें नंबर पर 403 रनों के साथ पाकिस्तान के इमरान खान (Imran Khan Pakistan) हैं।

    विराट कोहली के अंतरराष्ट्रीय करियर की बात की जाए तो उनकी आईसीसी इवेंट फाइनल (ICC Events Finals) में यह पांचवीं पारी है। उनके अब आईसीसी फाइनल्स में 204 रन हो गए हैं। दूसरे नंबर पर गौतम गंभीर (Gautam Gambhir)  हैं। गंभीर ने आईसीसी के 2 फाइनल खेले थे। उसमें उन्होंने 172 रन बनाए थे। तीसरे नंबर पर टीम इंडिया के दमदार कप्तान ‘दादा’ सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) हैं। गांगुली ने दो पारियों में 141 रन बनाए थे। चौथे नंबर पर टीम इंडिया के पूर्व महाविस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag) हैं। सहवाग ने 4 पारियों में 120 रन बनाए थे। इस लिस्ट  में पांचवें नंबर पर युवराज सिंह (Yuvraj Singh) का नाम है। उन्होंने ICC Finals की 6 पारियों में 110 रन बनाए थे।

    गौरतलब है कि WTC फाइनल 2021 में न्यूजीलैंड के खिलाफ (India vs New Zealand WTC Final) पहली पारी के दौरान कप्तान विराट कोहली ने टेस्ट क्रिकेट में अपने 7500 रन भी पूरे किए। उन्होंने अपने करियर के 92वें टेस्ट की 154वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल की। क्रिकेट का इतिहास बताता है कि इस नई उपलब्धि को पाते ही कोहली इस मुकाम तक पहुंचने वाले दुनिया के 9वें सबसे तेज बल्लेबाज भी बन गए। विराट कोहली भारतीय क्रिकेटर्स में इस मुकाम तक पहुंचने वाले ‘लिटल मास्टर’ सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) के साथ संयुक्त रूप (Jointly) से सबसे तेज बल्लेबाज बन गए हैं। गावस्कर ने भी यह उपलब्धि हासिल करने में 154 पारियां ही खेलीं थीं।

    हालांकि, कप्तान कोहली दो मामलों में क्रिकेट के भीष्म पितामह सुनील गावस्कर से पीछे रह गए। सुनील गावस्कर ने 154 पारियों (88 टेस्ट मैच) में 7585 टेस्ट रन बनाए थे, लेकिन विराट कोहली (Virat Kohli) 7534 ही बना पाए। इस मुकाम तक पहुंचने के दरम्यान गावस्कर और कोहली ने 27-27 टेस्ट शतक जड़े। इसमें तो वे बराबरी पर रहे। लेकिन, अर्धशतक लगाने के मामले में सुनील गावस्कर उनसे आगे हैं। सुनील गावस्कर ने अपने टेस्ट करियर में 33 अर्धशतक लगाए थे, जबकि विराट कोहली अब तक 25 अर्धशतक ही लगा पाए हैं। पर, कोहली का कारवां अभी जारी है।