who forced VVS Laxman to learn Hindi, the elders had to bow down in front of Hindi

टीम इंडिया के पूर्व शानदार बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) को हिंदी में कमेंट्री करते हुए आपने ज़रूर देखा होगा।

    -विनय कुमार

    क्रिकेट मैच हो रहे हों और उसके साथ बेहतरीन कमेंट्री का तड़का हो तो और क्या चाहिए। भारत के करोड़ों क्रिकेट प्रेमियों को हिंदी की कमेंट्री सबसे ज्यादा पसंद आती है। क्रिकेट के मैदान में खेल रहे धुरंधरों के साथ साथ कमेंट्री बॉक्स पर बैठे कर मैच का सीधा हाल, वो भी पूरी पंडिताई के साथ, यानी मैच के हर पहलू की समीक्षा करते हुए दर्शकों तक बात पहुंचाने वाले कुछ कमेंटेटर काफी लोकप्रिय हैं। 

    कमेंट्री में उन्होंने अपनी एक अलग पहचान बनाई है। एक वक्त था जब अंग्रेजी की कमेंट्री की तूती बोलती थी, लेकिन आज नज़ारे बदल चुके हैं। ऐसे कई मामले देखे गए हैं जो आज हिंदी के शानदार और बेहद लोकप्रिय कमेंटेटर हैं, वो पहले खिलाड़ी थे। ये भी देखा गया है कि कुछ खिलाड़ियों को अपने करियर में हिंदी बोलने से शर्म आती थी, हिंदी से वो परहेज़ करते थे, आज हिंदी उनकी मजबूरी हो गई है। ज़ाहिर है, लोगों में लोकप्रिय होना है और कमाई भी करोड़ों में हो तो हिंदी की शरण तो लेनी ही पड़ेगी। 

    बहरहाल, आजकल टीम इंडिया के कुछ पूर्व खिलाड़ी हिंदी कमेंट्री में काफी लोकप्रिय हो रहे हैं। बड़े-बड़े दिग्गज और क्रिकेट की दुनिया की महान हस्तियां आपको हिंदी में कमेंट्री करते हुए दिख जाएंगे।

    क्रिकेट में हिंदी कमेंट्री की लोकप्रियता बढ़ी 

    वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman), आकाश चोपड़ा (Aakash Chopra), सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar), इरफान पठान (Irfan Pathan), वीरेंद्र सहवाग (Virendra Sehwag), जतिन सप्रू (Jatin Sapru), संजग बांगर (Sanjay Bangar), अजीत आगरकर (Ajit Agarkar) जैसे कई दिग्गज खिलाड़ी हिंदी में कमेंट्री करते हुए नजर आते हैं। खास बात यह है कि कुछ महारथी ऐसे थे जो पहले अंग्रेजी में कमेंट्री करते थे, लेकिन हिंदी की लोकप्रियता के कारण उन्होंने हिंदी कमेंट्री का दामन थाम लिया। 

    टीम इंडिया के पूर्व शानदार बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) को हिंदी में कमेंट्री करते हुए आपने ज़रूर देखा होगा। उनकी हिंदी औरों से थोड़ी हटकर भी है। इसकी वजह है कि वह आंध्र प्रदेश से हैं और हिंदी उनकी मातृभाषा नहीं है। लेकिन हिंदी कमेंट्री की लोकप्रियता को देखते हुए उन्होंने हिंदी की क्लास ली और हिंदी सीखी।

    दिग्गजों ने हिंदी में कमेंट्री की

    Star Sports और Desney India के चीफ संजोग गुप्ता (Sanjog Gupta) के मुताबिक, IPL के इस सीजन (IPL T20 2021) को लेकर न सिर्फ प्रसारक बल्कि कमेंटेटर भी काफी उत्साहित हैं। हिंदी आज का सबसे बड़ा बाजार है। पिछले सीजन में जितने दर्शकों ने आईपीएल (IPL 2020) देखा उनमें से दो -तिहाई लोगों ने हिंदी कमेंट्री वाले मैच देखे। पहले अंग्रेजी कमेंट्री (English commentary Cricket IPL) का बोलबाला था, लेकिन अब वक्त बदल गया है। अब ज्यादातर क्रिकेटप्रेमी हिंदी में क्रिकेट देख रहे हैं। सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar), सौरव गांगुली (Sourav Ganguly), वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman), राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) भी हिंदी कमेंट्री करते देखे जा चुके हैं।

    एक साल तक ली हिंदी ट्यूशन 

    वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) की हिंदी अच्छी नहीं थी, लेकिन वो जानते थे कि हिंदी कमेंट्री अंग्रेजी के मुकाबले बेहद लोकप्रिय है। इसी वजह से उन्होंने अपनी हिंदी के डिक्शन और शब्दों के चयन को लेकर काफी सीखा। उन्होंने हिंदी सीखना शुरू किया। लक्ष्मण ने एक साल तक हिंदी की ट्यूशन ली। हफ्ते में 2-3 दिन हिंदी की पूरी गंभीरता से ट्यूशन लेते थे। और आज आलम ये है कि वीवीएस लक्ष्मण क्रिकेट की दुनिया में हिंदी कमेंट्री में काफी लोकप्रिय हो रहे हैं।