ipl-2021-delhi-capitals-captain-rishabh-pant-smashes-bowlers-in-practice-session

    – विनय कुमार

    भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 जून से इंग्लैंड के साउथम्प्टन के एजेस बाउल स्टेडियम में टेस्ट क्रिकेट के पहले वर्ल्ड कप ‘वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप’ (ICC World Test Championship Final 2021) का फाइनल मुकाबला शुरू होगा। न्यूजीलैंड की टीम ने तीन दिन पहले ही इंग्लैंड के खिलाफ खेले 2 मैचों की टेस्ट सीरीज 1-0 के अपने नाम कर लिया। बड़ी जीत हासिल की।  न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड के ऐतिहासिक लॉर्ड्स के मैदान में खेला गया टेस्ट ड्रॉ कराया था, जबकि बर्मिंघम में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में उसने 8 विकेट से जीत दर्ज की।

    इसलिए न्यूजीलैंड WTC FINAL में मैदान में उतरने के लिए प्लस एनर्जी महसूस करेगी। वहीं, कप्तान विराट कोहली की टीम साउथम्प्टन में बॉयो-बबल के अंदर ही नेट प्रैक्टिस और इंट्रा स्कॉड मैच तक ही सीमित रही। फाइनल मैच के दौरान टीम इंडिया के लिए इंग्लैंड की पिच और आबो-हवा के लिहाज से निगेटिव  जा सकती है, क्योंकि उसे यहां की परिस्थितियों से आदी होने का मौका नहीं मिला।

    गौरतलब है कि, तेज गेंदबाजी के मामले में न्यूजीलैंड की टीम में भारत की तुलना में ज्यादा मजबूती है। उसने इंग्लैंड के खिलाफ लॉर्ड्स में खेले गए हालिया ताज़ा टेस्ट मैच इसका नजराना भी पेश किया था। वह भी तब जब उस मैच में ट्रेंट बोल्ट (Trent Boult) भी नहीं खेले थे। उस मैच में टिम साउदी (Tim Southee), काइल जैमीसन (Kyle Jamieson), नील वैगनर (Neil Wagner) और कॉलिन डीग्रैंडहोम (Colin de Grandhomme) ने अपनी घातक स्विंग गेंदबाजी से इंग्लैंड के बल्लेबाजों को नानी याद दिला दी थी।

    यूं तो तेज गेंदबाजी में भारत के इशांत शर्मा (Ishant Sharma), मोहम्मद शमी (Mohammed Shami) और जसप्रीत बुमराह (Jaspreet Bumrah) भी कम धारदार नहीं हैं। इन्होंने  2018 में इंग्लैंड के दौरे में अपना जलवा खूब दिखाया था। कप्तान विराट कोहली कीबेटी में उमेश यादव, मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) और शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) भी मजबूत बैक-अप ऑप्शन के तौर पर मौजूद हैं।

    भारत के मुकाबले न्यूजीलैंड का स्पिन विभाग कमजोर है। भारत के पास रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, अक्षर पटेल और वाशिंगटन सुंदर जैसे घातक स्पिन गेंदबाज हैं, जो शानदार बल्लेबाजी की क्षमता भी रखते हैं। ये भारत के लिए एक प्लस पॉइंट है। साउथम्प्टन (Southampton Weather) का मौसम भी भारतीय स्पिनर्स के लिए मददगार साबित हो सकता है। 2018 के भारत के इंग्लैंड दौरे में इंग्लैंड के घातक स्पिन गेंदबाज मोइन अली (Moeen Ali) की ऑफ स्पिन गेंदबाजी ने भारतीय बल्लेबाजों को नाकों चने चबवा दिए थे।

    गौरतलब है कि, पिछले साल, यानी 2020 में न्यूजीलैंड दौरे पर गई भारतीय टीम की बल्लेबाजी में बहुत ज्यादा गंभीरता नजर नहीं आई थी। लेकिन, अबकी बार के आमना-सामना में ऋषभ पंत (Rishabh Pant) न्यूजीलैंड के लिए खतरा साबित हो सकते हैं। हां, ट्रेंट बोल्ट (Trent Boult) और नील वैगनर (Neil Wagner) के खिलाफ खेलते हुए उन्हें विशेष सावधानी बरतनी होगी।

    ऋषभ के बल्लेबाजी में मैदान में उतरने से पहले टीम इंडिया के सभी बल्लेबाज दाएं हाथ के बल्लेबाज हैं, मसलन, रोहित शर्मा (Rohit Sharma), शुभमन गिल (Shubman Gill), विराट कोहली (Virat Kohli Captain), चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara), अजिंक्य रहाणे (Ajinkya Rahane) ही हैं। WTC के फाइनल मैच में अगर टीम इंडिया 2 स्पिनर्स के साथ मैदान में उतरती है, तो न्यूजीलैंड के लिए यह मुकाबला बड़ी चुनौती होगी, क्योंकि, मैदान इंग्लैंड का होगा।