वरुण चक्रवर्ती के मुरीद क्यों हुए ‘मास्टर ब्लास्टर’ सचिन तेंडुलकर ?

– विनय कुमार

IPL T20 2020 के सीज़न को शुरू हुए 38 दिन बीत चुके हैं।  इन 38 दिनों में अब तक 46 मैच खेले भी जा चुके हैं। पॉइंट्स टेबल (IPL 2020 POINTS TABLE) में टॉप 4 के दावेदारों में मामला करीब-करीब फिक्स हो गया है।  पांचवें और चौथे पायदान वाले के बीच घमासान है। तस्वीर जल्द ही साफ़ हो जायेगी। बहरहाल, हम बात करेंगे कोलकाता नाइट राइडर्स के उस घातक गेंदबाज़ की जिसके प्रदर्शन से ‘क्रिकेट के भगवान’ कहे जाने वाले महान खिलाड़ी मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर मुरीद हो गए। सचिन तेंदुलकर इस खिलाड़ी की गेंदबाज़ी से खासे प्रभावित हैं। इस खिलाड़ी का नाम है वरुण चक्रवर्ती।  

वरुण चक्रवर्ती को ऑस्ट्रेलिया के दौरे में जा रही  टी-20 की ‘टीम इंडिया’ में शामिल किया गया है। बीसीसीआई (BCCI) की तरफ से सोमवार, 26 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के दौरे के लिए टेस्ट, वनडे और टी-20 टीम की घोषणा की गई। जिसमें वरुण चक्रवर्ती को टी-20 टीम में शामिल किया गया है। वरुण चक्रवर्ती की प्रशंसा करते हुए सचिन तेंडुलकर ने कहा कि वरुण आईपीएल (IPL T20, 2020) के इस ताज़ा सीजन में लगातार अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं। बहुत ही कम मैचों में उन्होंने अधिक रन दिए हैं। सचिन ने कहा कि, हर कोई यह देख रहा है कि सुनील नरेन कैसी गेंदबाजी करेंगे, लिहाजा जब नरेन गेंदबाजी करते हैं तो दूसरे छोर से गेंदबाजी कर रहे अन्य गेंदबाजों के लिए मुश्किल बढ़ जाती हैं, क्योंकि बल्लेबाज दूसरे छोर के गेंदबाज को निशाना बनाता है।

गौरतलब है कि, वरुण चक्रवर्ती कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के शानदार गेंदबाज़ हैं। अबकी सीज़न के आईपीएल में वरुण चक्रवर्ती अब तक 12 विकेट झटक चुके हैं और अपनी टीम के सर्वाधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज भी हैं। इस सीज़न यानी आईपीएल सीज़न-13 के वह पहले ऐसे गेंदबाज़ हैं जिन्होंने एक मैच में 5 विकेट झटके हैं। डोमेस्टिक क्रिकेट में वरुण चक्रवर्ती तमिलनाडु की टीम के लिए खेलते हैं। वरुण की तारीफ़ करते हुए तेंडुलकर ने आगे कहा कि, “अलग-अलग तरह की गेंद डालने में वरुण काफी सफल गेंदबाज रहे हैं, मैं उनके अंदर जो आत्मविश्वास देख रहा हूं, वह गेंद को बेहतरीन घुमाने की क्षमता रखते हैं, गुगली डाल सकते हैं। वरुण का प्रदर्शन लगातार अच्छा रहा है और मैं उनके प्रदर्शन से काफी प्रभावित हूं। उन्होंने दबाव में काफी अच्छी गेंदबाजी की है और ऐसे हालात में वह दबाव में नहीं आते हैं। वह काफी संतुलित और आत्मविश्वास से लबरेज दिखते हैं।”

सचिन ने कहा कि, “अगर गेंदबाज अपनी क्षमता पर भरोसा करता है और अपनी गेंदबाजी को लेकर उसके भीतर स्पष्टता है तो 30-40 फीसदी जंग पहले ही वह जीत लेता है।”