kevin o'brien

    -विनय कुमार

    आयरलैंड क्रिकेट टीम के धुरंधर ऑल राउंडर दिग्गज केविन ओ ब्रॉयन (Kevin O’Brien) ने इंटरनेशनल क्रिकेट के वनडे फॉर्मेट (ODI FORMAT) से संन्यास का एलान कर दिया है। केविन ओ’ब्रॉयन ने यह फैसला आज लिया और इसकी जानकारी देते हुए स्पष्ट किया कि T20 क्रिकेट में अपना पूरा ध्यान देने के उद्देश्य से उन्होंने ODI क्रिकेट को अलविदा कहा है, और  टेस्ट टीम (Ireland Test Team Kevin O’Brien) में जगह बनाने की उम्मीद अभी भी जारी है।

    केविन ओ ब्रायन ने अपने ऑफिशल बयान में कहा, “15 सालों तक आयरलैंड (Ireland) के लिए खेलने के बाद मुझे लगता है कि यह उपयुक्त समय है जब मुझे ODI क्रिकेट से रिटायरमेंट ले लेना चाहिए। अपने देश के लिए 153 बार ODI मैचों के लिए मैदान पर उतरना गर्व की बात है। यही नहीं, इससे मुझे जीवनभर की यादें भी मिली हैं। यह मेरे लिए आसान फैसला नहीं था, लेकिन काफी समय तक इस पर गौर करने के बाद मुझे एहसास हुआ कि पिछले कुछ समय में ODI टीम में मेरा कुछ खास योगदान नहीं रहा है। ODI फॉर्मेट में एंड्रयू, ग्राहम, टीम और समर्थकों के साथ यह बिल्कुल न्यायसंगत नहीं होगा कि मैं 100 फीसदी नहीं देने के बावजूद इस फॉर्मेट में खेलना जारी रखूं।”

    क्रिकेट का इतिहास बताता है कि 37 साल के केविन ओ’ब्रॉयन (Kevin O’Brien) ने अपने ODI करियर के में 153 मैच खेले, जिसमें 29.41 की औसत से 3618 रन बनाए। इस दरम्यान उन्होंने 114 विकेट भी हासिल की। केविन ने आज जब ODI cricket को अलविदा कहा, तब वो आयरलैंड के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज और इस फॉर्मेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले तीसरे आयरिश खिलाड़ी रहे। यही नहीं उन्होंने अपने ODI करियर में बेहतरीन फील्डिंग तो की ही, 68 कैच भी लपके। उन्होंने 4 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में कप्तानी टीम की कप्तानी भी की, जिनमें से  3 मैचों में उनकी टीम को जीत मिली।

    केविन ओ’ब्रॉयन (Kevin O’Brien) ने आगे कहा, “2006 में टीम से जुड़ने के बाद मुझे मेरे करियर में कई यादगार पल देखने मिले। मैंने 3 ICC ODI World Cup में देश का प्रतिनिधित्व किया। टीम के साथ कुछ निजी सफलता भी हासिल की और दुनिया भर में खेला। लेकिन, अब मैं अपना पूरा ध्यान T20 क्रिकेट में देना चाहता हूं, ताकि अगले 18 महीने में खेले जाने वाले 2 T20 वर्ल्ड कप (ICC T20 World Cup) में भूमिका निभा सकूं। और उम्मीद करता हूं कि टेस्ट क्रिकेट में भी खेलने का अवसर मिले।”

    गौरतलब है कि, 2011 वर्ल्ड कप (ICC ODI World Cup 2011) में इंग्लैंड के खिलाफ केविन ओ’ब्रॉयन (Ireland vs England WC) की तरफ से खेली गई 113 रनों की ऐतिहासिक पारी शायद ही कोई भूल पाएगा। खासकर इंग्लैंड के खिलाड़ी और वहां के क्रिकेट-पंडित। उस लाजवाब पारी में आयरलैंड के इस धुरंधर ऑल राउंडर ने सिर्फ 50 गेंदों में शतक ठोका था और अपनी टीम को पहली बार इंग्लैंड के खिलाफ जीत दिलाई थी। गौर करने वाली बात तो ये है कि, उनकी यह शानदार पारी पिछले एक दशक में किसी ICC World Cup में खेली गई सबसे तेज पारी भी है।