क्या KXIP लगा पाएगी जीत की हैट्रिक? आज KXIP vs DC

– विनय कुमार

आज आईपीएल (IPL T20, 2020) के ताज़ा सीज़न यानी IPL T20 2020 की 38वीं भिड़ंत दुबई (UAE) के स्टेडियम में दिल्ली कैपिटल्स (DC) और किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के बीच होगी. अपने पिछले मैच में डिफेंडिंग चैम्पियन मुंबई इंडियंस (MI) के खिलाफ रोमांचक मुकाबले में जीत से किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) का मनोबल बढ़ा ज़रूर होगा, लेकिन  आज उसे पॉइंट्स टेबल में टॉप पर काबिज दिल्ली कैपिटल्स (DC) की टीम से दो दो हाथ करने हैं. आज की ये दिलचस्प भिड़ंत भारतीय समय के अनुसार शाम 7.30 बजे से शुरू होगी .

DC vs KXIP : इतिहास के पन्ने क्या बोलते हैं ?  

आईपीएल T20 में अब तक खेले मैचों के इतिहास पर गौर करें तो,  दिल्ली कैपिटल्स और (DC) किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के बीच अब तक यानी 2008 से 2020 तक 25 मुकाबले हो चुके हैं, जिसमें दिल्ली कैपिटल्स ने ११ और किंग्स इलेवन पंजाब ने 14 मैचों में जीत हासिल की है. गौरतलब है कि, ताज़ा सीज़न में इन दोनों टीम की पिछली भिड़ंत 20 सितंबर को हुई थी, जिसमें मुकाबला टाई हो गया था, और सुपर ओवर (SUPER OVER) में दिल्ली कैपिटल्स की टीम बाज़ी मार गई थी.

अबकी सीज़न में आईपीएल की शुरुआत में नेक-टू-नेक फाइट वाले मैच में  मौका गंवाने के बाद किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) की टीम पिछले दो मैचों में जीत हासिल करने में कामयाब रही है. रॉयल चैंलेंजर्स बेंगलुरु ( RCB) के खिलाफ टीम को अंतिम दो ओवरों में जीत के लिए सिर्फ 7 रनों की दरकार थी और उसे अंतिम गेंद से काफी पहले ही मैच खत्म कर देना चाहिए था, जबकि मुंबई इंडियंस (MI) के खिलाफ आईपीएल के पहले ‘डबल सुपर ओवर’ से पहले नियमित समय में ही के.एल.राहुल की टीम को जीत हासिल कर लेनी चाहिए थी, पर कुछ मामलों को लेकर खिलाड़ियों में अलर्टनेस की खामियां दिखाई दी, जिसके कारण टीम को झेलना भी पड़ा.  

डेथ ओवरों की गेंदबाजी और ग्लेन मैक्सवेल की खराब फॉर्म के साथ मध्यक्रम की बल्लेबाज़ी में मजबूती का नहीं होना टीम के लिए चिंता का विषय ज़रूर है. ऐस में किंग्स इलेवन पंजाब को ‘प्ले ऑफ’ में जगह बनाने के लिए बचे सभी पांचों मैच जीतने होंगे. अबकी सीज़न के टूर्नामेंट के टॉप दो स्कोरर सलामी बल्लेबाज के एल राहुल (525) और मयंक अग्रवाल (393) की मौजूदगी के बावजूद टीम को जीत हासिल करने में काफी पापड बेलने पड़े हैं.

हां, इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता है कि ‘यूनिवर्स बॉस’ क्रिस गेल की टीम में सफल वापसी से सलामी बल्लेबाजों पर बना दबाव कम हुआ है. अब कप्तान के एल राहुल और खुलकर खेल सकते हैं. निकोलस पूरन जलवा दिखा चुके हैं कि उनमें क्या ख़ास है, लेकिन पूरन ने अब तक टीम को जीत दिलाने वाली पारी खलेने मैं कामयाब नहीं हो पाए हैं. बल्लेबाज के तौर पर  ग्लेन मैक्सवेल पर दबाव ज़रूर बढ़ा है, लेकिन ये बात ज़रूर है कि वह बेहतरीन स्पिनर साबित हुए हैं.

दिल्ली कैपिटल्स (DC) की टीम फिलहाल अबकी सीज़न के टूर्नामेंट में अब तक की सबसे कामयाब टीम नज़र आई है. लगे हाथ पिछले शनिवार की रात महेंद्र सिंह धोनी की ‘येलो आर्मी’ चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के खिलाफ मिली जीत से उसका मनोबल ज़ाहिर है और बढ़ गया होगा. आज की भिड़ंत में ओपनर पृथ्वी शॉ कुछ मैचों में खाता खोलने में नाकाम रहने के बाद बड़ी पारी खेलने की नई उम्मीद लेकर मैदान में उतरेंगे, ‘गब्बर’ शिखर धवन फॉर्म में  लौट ही चुके हैं. ऐसे में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए दिल्ली कैपिटल्स को हराना आसान नहीं होगा, लेकिन, असंभव भी नहीं.

दिल्ली कैपिटल्स (DC) अब तक खेले 9 मैचों में 7 में जीत दर्ज करने में सफल रही है. अगर आज का मैच जीतने में कामयाब रही तो ये जीत उसे ‘प्ले ऑफ’ में ले जाएगी. अक्षर पटेल ने गेंद के साथ-साथ बल्ले से भी बेहतरीन बोल रहे हैं. चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) के खिलाफ उन्होंने रवींद्र जडेजा के अंतिम ओवर में शानदार 3 छक्के ठोककर अपनी टीम दिल्ली कैपिटल्स को जीत दिलाई थी.

गेंदबाज़ी में भी दिल्ली कैपिटल्स की धार घातक है. टीम ने अब तक खेले मैचों में दिखाया है कि वे कम स्कोर का बचाव करने में भी वह काबिल है. चोटिल ऋषभ पंत की गैरमौजूदगी में खेल रहे अजिंक्य रहाणे के पास इस टूर्नामेंट में कोई नई छाप छोड़ने का मौका अब और नहीं बचा है.

दोनों टीम के संभावित ‘प्लेइंग इलेवन’

किंग्स इलेवन पंजाब

लोकेश राहुल(कप्तान/विकेटकीपर), जेम्स नीशाम, क्रिस जोर्डन, दीपक हुड्डा, रवि बिश्नोई, अर्शदीप सिंह, मयंक अग्रवाल, मोहम्मद शमी, निकोलस पूरन, क्रिस गेल, मुरुगन अश्विन

दिल्ली कैपिटल्स

श्रेयस अय्यर (कप्तान), कागिसो रबाडा, मार्कस स्टोइनिस, अजिंक्य रहाणे, रविचंद्रन अश्विन, शिखर धवन, एलेक्स कैरी, पृथ्वी शॉ, अक्षर पटेल, तुषार देशपांडे, एनरिच नॉर्खिया