विलियमसन का अर्धशतक बेकार, चेन्नई सुपर किंग्स 20 रन से जीती

दुबई: चेन्नई सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) ने शेन वाटसन (42 रन) और अम्बाती रायुडू (41 रन) के बीच तीसरे विकेट के लिये 81 रन की साझेदारी के बाद गेंदबाजों की बदौलत मंगलवार को यहां इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) मैच में सनराइजर्स हैदराबाद (Sunrisers Hyderabad) को 20 रन से शिकस्त देकर वापसी की। वाटसन ने अपनी पारी के दौरान 38 गेंद में एक चौके और तीन छक्के जड़े जबकि रायुडू ने 34 गेंद में तीन चौके और दो छक्के लगाये। इससे सीएसके ने टॉस जीतकर छह विकेट पर 167 रन बनाये।

रविंद्र जडेजा ने अंत में 10 गेंद में तीन चौके और एक छक्के से नाबाद 25 रन का योगदान दिया। इस लक्ष्य का पीछा करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद के लिये केन विलियमसन की 57 रन (39 गेंद में सात चौके) की अर्धशतकीय पारी भी के काम नहीं आ सकी और टीम 20 ओवर में आठ विकेट पर 147 रन ही बना पायी। सीएसके के लिये कर्ण शर्मा और ड्वेन ब्रावो ने दो दो जबकि सैम कुरेन, जडेजा और शारदुल ठाकुर ने एक एक विकेट हासिल किया।

सीएसके और सनराइजर्स हैदराबाद के तीन-तीन जीत से छह अंक हैं। लेकिन तालिका में हैदराबाद की टीम अब भी चेन्नई से ऊपर पांचवें स्थान पर है। इससे पहले संदीप शर्मा ने चार ओवर में 19 रन देकर सनराइजर्स हैदराबाद को फॉफ डु प्लेसिस और सैम कुरेन (31) के शुरूआती दो बड़े विकेट दिलाये। टी नटराजन और खलील अहमद को भी दो दो विकेट मिले। राशिद खान ने चार ओवर में 30 रन दिये, पर उन्हें कोई विकेट नहीं मिला। स

लामी बल्लेबाज डु प्लेसिस खाता भी नहीं खोल पाये थे कि संदीप शर्मा की इनस्विंगर पर बल्ला छुआ बैठे और विकेटकीपर जॉनी बेयरस्टो ने उनका कैच लपकने में कोई गलती नहीं की। लेकिन उनके साथी कुरेन दो शानदार छक्के और तीन चौके लगाकर बड़ी पारी की ओर बढ़ रहे थे और दूसरे छोर पर शेन वाटसन थे जिससे लग रहा था कि टीम अच्छी शुरूआत करेगी। संदीप शर्मा ने शानदार गेंदबाजी करते हुए कुरेन को बोल्ड कर दिया जिन्होंने 21 गेंद में 31 रन बनाये। अब अम्बाती रायुडू क्रीज पर थे।

पॉवरप्ले में टीम का स्कोर दो विकेट पर 44 रन था। हालांकि दो विकेट गंवाने के बावजूद वाटसन और रायुडू रन गति को बढ़ाते रहे जिससे सीएसके ने 10 ओवर में दो विकेट पर 69 रन बना लिये थे। वाटसन और रायुडू जम चुके थे। रायुडू ने 11वें ओवर में शाहबाज नदीम पर शानदार छक्का जड़ा और अगले ओवर की पहली गेंद पर वाटसन ने राशिद खान की गेंद को छक्के के लिये भेज दिया।

रायुडू के 14वें ओवर में टी नटराजन की गेंद पर लगाये गये चौके से सीएसके ने 100 रन पूरे किये। रायुडू और वाटसन ने राशिद पर एक एक गगनचुंबी छक्के जड़ दिये जिससे 15वें ओवर में 14 रन जुड़े। सीएसके ने इसके बाद लगातार ओवरों में इन दोनों बल्लेबाजों के विकेट गंवा दिये जिससे उसका स्कोर चार विकेट पर 120 रन हो गया।

रायुडू 41 रन को लंबी पारी में तब्दील नहीं कर सके और खलील अहमद की फुल टॉस गेंद को सीधे सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान डेविड वार्नर के हाथों में भेजकर आउट हुए। उनके जाते ही वाटसन भी अपना विकेट खो बैठे, नटराजन की फुल टॉस गेंद पर मनीष पांडे ने उनका कैच लिया। पांडे ने वाटसन की पारी की शुरूआत में भी उनका कैच लिया था लेकिन गेंद जमीन को छू गयी थी।

धोनी 19वें ओवर की अंतिम गेंद पर पवेलियन पहुंचे, उन्होंने 13 गेंद में दो चौके और एक छक्के से 21 रन बनाये, इससे पहली गेंद पर उन्होंने नटराजन की गेंद को लांग ऑन पर छक्के के लिये भेजा था। ड्वेन ब्रावो आते ही चलते बने। लेकिन जडेजा ने अंतिम ओवर में एक छक्का, एक चौका जड़कर स्कोर में इजाफा किया।

सीएसके ने अंतिम पांच ओवरों में चार विकेट गंवाकर 51 रन जोड़े। विलियमसन ने 17वें ओवर में ड्वेन ब्रावो की गेंद पर चौका लगाकर इंडियन प्रीमियर लीग में अपना 13वां अर्धशतक पूरा किया। इसके बाद उन्होंने आक्रामकता दिखाना शुरू किया क्योंकि टीम को 18 गेंद में 46 रन चाहिए थे।

उन्होंने कर्ण शर्मा की गेंद पर चौका लगाने के बाद बड़े शॉट के लिये उठाया और शारदुल ठाकुर ने उनका कैच लपककर उनकी पारी का अंत किया। पर राशिद खान (14 रन) ने अगली ही गेंद को लांग ऑन पर छक्के के लिये भेजकर रिवर्स स्वीप पर चौका जमा दिया। शाहबाज नदीम ने भी अंतिम गेंद पर चौका जड़ दिया। अब 12 गेंद में 27 रन चाहिए थे।

सनराइजर्स हैदराबाद ने भी सीएसके की तरह पॉवरप्ले में दो विकेट गंवा दिये थे, उसका स्कोर 40 रन पर दो विकेट था। चौथे ओवर में टीम ने ये दोनों विकेट गंवाये, कुरेन ने कप्तान डेविड वार्नर को अपनी ही गेंद पर कैच आउट किया जबकि मनीष पांडे अंतिम गेंद पर रन आउट हुए।

विलियमसन एक छोर पर डटे थे, वह और जॉनी बेयरस्टो (23 रन) 32 रन की साझेदारी कर चुके थे और तभी जडेजा ने सीएसके को तीसरी सफलता बेयरस्टो को बोल्ड कर दिलायी। फिर प्रियम गर्ग भी उनका साथ निभाने उतरे, दोनों ने मिलकर 40 रन जोड़े। लेकिन जडेजा ने डीप मिडविकेट पर कर्ण शर्मा की गेंद पर गर्ग का कैच लपककर चौथा झटका दिया। 15 ओवर के बाद टीम का स्कोर चार विकेट पर 101 रन था और 30 गेंद में जीत के लिये 67 रन चाहिए थे।