भारत के न्यूनतम टेस्ट स्कोर पर विश्व क्रिकेट की प्रतिक्रिया : भूलने का ओटीपी है 49204084041

एडीलेड. क्रिकेट जगत ने सदमे और हैरानी के साथ भारतीय टीम (Indian Team) के उस दुस्वप्न पर प्रतिक्रिया व्यक्त की जो उसने यहां शनिवार को दिन के समय 36 रन के अपने न्यूनतम टेस्ट स्कोर पर सिमटकर देखा। भारतीय का मजबूत बल्लेबाजी लाइन अप पैट कमिंस (Pat Cummins) और जोश हेजलवुड (Josh Hazlewood) की तेज गेंदबाजी जोड़ी के सामने ढह गया जिससे आस्ट्रेलिया (Australia) ने शुरूआती दिन रात्रि टेस्ट में ढाई दिन के अंदर आठ विकेट से शानदार जीत हासिल की।

पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने दूसरी पारी में भारतीय बल्लेबाजों के स्कोर का जिक्र करते हुए ट्वीट किया, “भूलने का ओटीपी है 49204084041″।

कोई भी बल्लेबाज दोहरे अंक तक नहीं पहुंच सका। सहवाग के आदर्श सचिन तेंदुलकर ने भी स्वीकार किया कि आस्ट्रेलिया ने भारतीय टीम को चारों खाने चित्त कर दिया। तेंदुलकर ने लिखा, “जिस तरह से भारत ने पहली पारी में बल्लेबाजी और गेंदबाजी की, वे अच्छी स्थिति में थे लेकिन आस्ट्रेलिया ने आज सुबह सचमुच शानदार वापसी की।”

उन्होंने लिखा, “यही टेस्ट क्रिकेट की खूबसूरती है। यह तब तक खत्म नहीं होता, जब तक यह पूरा समाप्त नहीं हो जाता। भारत को दूसरे पारी में चित्त कर दिया गया। आस्ट्रेलिया को बधाई।”

भारत का पिछला न्यूनतम टेस्ट स्कोर 1974 में इंग्लैंड के खिलाफ लार्ड्स में 42 रन का था। महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर को लगता है कि आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाज शानदार थे। गावस्कर ने ‘चैनल सेवन’ से कहा, “भारतीय बल्लेबाज जिस तरीके से आउट हुए, उसके लिये उन्हें दोषी ठहराना उचित नहीं होगा क्योंकि आस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने लाजवाब गेंदबाजी की।”

मौजूदा बल्लेबाजों की रक्षात्मक कमियों का जिक्र करते हुए पूर्व बल्लेबाज संजय मांजरेकर ने कहा, ‘‘इसमें कोई शक नहीं की 36 रन के स्कोर को अलग पारी के रूप में ही देखा जायेगा और देखा भी जाना चाहिए लेकिन जब भी गेंद का मूवमेंट होता है तो पिछले तीन टेस्ट (न्यूजीलैंड में दो टेस्ट) में भारत का स्कोर – 165, 191, 242, 124, 244, 36 – रहा है। ” उन्होंने कहा, “इससे स्पष्ट है कि भारत को अपने रक्षात्मक कौशल में सुधार करने की जरूरत है। आज के माहौल में करने से ज्यादा कहना आसान है।”

आस्ट्रेलिया महान स्पिनर शेन वार्न ने कहा, “वाह। पैट कमिंस और जोश हेजलवुड ने यहां एडीलेड में कितनी शानदार गेंदबाजी की। लाजवाब।” उन्होंने कहा, “भारतीय बल्लेबाजों के लिये सहानुभूति क्योंकि उन्होंने इसकी उम्मीद नहीं की होगी, ऐसा दिन रहा जिसमें बल्लेबाजों ने हर गेंद पर बल्ला स्पर्श किया और इन्हें खेला भी नहीं और सभी को चूक गये। अविश्वसवनीय।”

ग्रोइन चोट के कारण श्रृंखला के शुरूआती मैच में नहीं खेले डेविड वार्नर इस नतीजे से खुश थे जिससे उनकी टीम ने चार मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बना ली। उन्होंने लिखा, “आज खिलाड़ियों ने अविश्वसनीय जीत दर्ज की, गेंदबाजों ने आज क्या शानदार प्रयास किया। क्रिकेट के लिये अविश्वसनीय दिन।”

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान माइकल वॉन ने टिप्पणी की, “बताया था ना….भारत को टेस्ट श्रृंखला में रौंदा जायेगा।”

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज आर पी सिंह ने कहा, “आज का दिन काफी बुरा रहा, इसमें कोई शक नहीं लेकिन याद रखिये यह चार मैचों की श्रृंखला है। हमने पहले भी वापसी की है और यह टीम भी ऐसा कर सकती है।”

पूर्व भारतीय स्पिनर प्रज्ञान ओझा ने लिखा, “मैच अच्छी स्थिति में था और हम इसमें बने हुए थे लेकिन एक खराब सत्र हमारे खिलाफ गया।”