Bird flu did not start in Nashik

नयी दिल्ली. दिल्ली में बर्फ फ्लू (Bird flu) के खतरे के बीच जसोला में बीते तीन दिन में कम से कम 24 कौए और संजय झील (Sanjay Zeel) में 10 बत्तख मरी हुई मिली हैं। अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। शहर के ज्यादातर पार्कों पर मालिकाना अधिकार रखने वाले दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) ने कहा कि अधिकारी हालात पर नजर रखे हुए हैं।

डीडीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ”पशु-पक्षी चिकित्सा विभाग (Veterinary department) ने मृत बत्तख के नमूने ले लिये हैं, ताकि यह पता लगाया जा सके कि उनकी मौत बर्ड फ्लू से हुई है या नहीं।” डीडीए ने कौवों की मौत की जानकारी दिल्ली सरकार के वन विभाग को दे दी है। अधिकारी ने कहा, ”डीडीए अधिकतर सार्वजनिक पार्कों पर मालिकाना हक रखता है, जिनमें जलाशय भी शामिल हैं। ऐसे में हम हालात पर करीब से नजर बनाए हुए हैं।” यह पूछे जााने पर कि डीडीए अधिकारी हालात के मद्देजनर क्या कदम उठा सकते हैं तो उन्होंने कहा अभी सभी पार्क खुले हैं।

अधिकारी ने कहा, ”हालांकि हौजखास जैसे स्थानों जहां बड़ी झील में बहुत से पक्षी आते हैं, वहां सुरक्षा अधिकारी आगंतुकों को बर्ड फ्लू के डर से आने से रोक रहे हैं।” दिल्ली में बीते कुछ दिनों में 35 कौवों समेत कम से कम 50 पक्षियों की मौत हो चुकी है, जिससे बर्ड फ्लू का खतरा बढ़ गया है।सिंह ने इससे पहले कहा था, ”हमें द्वारका, मयूर विहार फेस-3 और हस्तसाल विलेज में कौवों के मरने की खबर मिली थी। हालांकि अभी यह पता लगाया जा रहा है कि उनके मरने का कारण बर्ड फ्लू था या कुछ और।” उन्होंने कहा कि पहली जांच रिपोर्ट सोमवार को आ जाएगी। (एजेंसी)