प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू (Photo Credits-ANI Twitter)
प्रवासी मजदूरों का पलायन शुरू (Photo Credits-ANI Twitter)

    नई दिल्ली: भारत में कोरोना (Coronavirus Pandemic) का तांडव लगातार जारी है। राजधानी दिल्ली (Delhi) सहित महाराष्ट्र (Maharashtra) में कोविड पूरी तरह से बेकाबू हो गया है। कोरोना संकट के चलते दिल्ली में एक सप्ताह का लॉकडाउन (Lockdown) अरविंद केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal Govt) ने लगाया हुआ है। दिल्ली में लॉकडाउन के चलते एक बार फिर प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) का पलायन शुरू हो गया है। दिल्ली में 26 अप्रैल तक लॉकडाउन रहने वाला है। 

    बता दें कि दिल्ली में कोरोना से संक्रमित रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं। दिल्ली की केजरीवाल सरकार द्वारा लगाया गया लॉकडाउन 19 अप्रैल की रात 10 बजे से शुरू हुआ है जो 26 अप्रैल की सुबह 5 बजे तक जारी रहेगा। इस दौरान बिना वजह बाहर निकलने पर पाबंदी रहेगी। सिर्फ जरुरी सेक्टर के लोग ही बाहर निकल सकते हैं। लॉकडाउन के दौरान मेट्रो, कैब, बस सेवा चालु रहेगी लेकिन जिन्हें इजाजत है वही बाहर आकर यात्रा कर सकते हैं। 

    आनंद विहार में जनसैलाब, देखें तस्वीरें-

    लॉकडाउन के डर की वजह से पिछले साल जो दिक्कतें प्रवासी मजदूरों ने झेली है उसके कारण इस बार वो किसी तरह का जोखिम नहीं उठाना चाहते हैं। यही कारण है कि वे लॉकडाउन की घोषणा होने के साथ ही अपना सामान पैक कर अपने गृह राज्य की तरफ पलायन कर रहे हैं। दिल्ली के आनंद विहार बस टर्मिनल पर हजारों लोग पहुंच गए हैं। सभी जल्द से जल्द अपने घर वापस जाना चाहते हैं। 

    देखें वीडियो-

    मजदूरों का पलायन जारी-

    ज्ञात हो कि दिल्ली में कोरोना के पिछले 24 घंटे के भीतर 23 हजार 686 नए मामले सामने आए हैं। जबकि 240 लोगों की मौत हुई है। दिल्ली में सक्रिय मरीजों की संख्या 76 हजार 887 पहुंच गई है। साथ ही अब तक 12 हजार 361 लोगों की मौत हुई है। दिल्ली से पलायन कर रहे मजदूरों का कहना है कि लॉकडाउन लगाने से काम-धंधा बंद हुआ है। ऐसे में घर जाना ही सबसे बेहतर विकल्प है।