दिल्ली पुलिस बनी ‘मसीहा’, 3 महीने में 1,440 लापता बच्चों को परिवार से मिलाया

नयी दिल्ली. दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने पिछले तीन महीने में 1,440 लापता बच्चों (Missing children) को पुनः उनके परिवार से मिलाया है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। दिल्ली पुलिस आयुक्त एस एन श्रीवास्तव (S N Shrivastava) ने लापता बच्चों का पता लगाने और उन्हें उनके परिजनों से मिलाने के लिए कार्य योजना तैयार करने के साथ ही निर्देश जारी किये थे।

दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी ईश सिंघल (Eish Singhal)ने कहा, “सात अगस्त को श्रीवास्तव ने घोषणा की थी जो कांस्टेबल या हेड कांस्टेबल 12 महीने के अंदर 14 वर्ष से कम आयु के 50 से ज्यादा लापता बच्चों का बचाएगा उसे पदोन्नति समेत अन्य पुरस्कार दिए जा सकते हैं।” उन्होंने कहा कि बचाए गए बच्चों में से कम से कम 15 बच्चे आठ वर्ष से कम उम्र के होने चाहिए। सिंहल ने कहा कि 12 महीने के भीतर कांस्टेबल या हेड कांस्टेबल द्वारा, 14 वर्ष से कम आयु के 15 से उससे अधिक लापता बच्चों को बचाने पर असाधारण कार्य पुरस्कार देने की घोषणा की गई थी।

उन्होंने कहा कि इस पुरस्कार के लिए, इनमें से पांच बच्चे आठ साल से कम उम्र के होने चाहिए। पुलिस ने कहा कि इसके बाद लापता बच्चों का पता लगाने के लिए पिछले तीन महीने में सभी पुलिस जिलों द्वारा एक विशेष अभियान चलाया गया। उन्होंने कहा कि एक जनवरी 2019 से 31 दिसंबर 2019 तक कुल 5,412 बच्चे लापता थे और पुलिस ने 3,336 बच्चों का पता लगाया।(एजेंसी)