murder

नयी दिल्ली. दक्षिणी दिल्ली के संगम विहार में आपस में बहस के बाद 45 वर्षीय एक व्यक्ति को उसके दो सौतेले बेटों ने कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डाला। पुलिस ने मंगलवार को बताया कि अजय तिवारी पर 14 और 15 नवंबर की दरम्यानी रात को उनके सौतेले बेटों रमन (22) और ओमप्रकाश (24) ने हमला कर दिया। तिवारी संगम विहार में दो मंजिला इमारत के भूतल पर अपने परिवार के साथ रहते थे, जबकि उनकी बड़ी बहन संगीता पहली मंजिल पर रहती हैं। मृतक की बहन के मुताबिक तिवारी और उनके सौतेले बेटों में अक्सर उनके पीने की आदतों को लेकर बहस होती थी।

शनिवार को तिवारी ने शराब के नशे में अपनी पत्नी को मारा, जिसके बाद उनके और रमन के बीच बहस शुरू हो गई। रात 10 बजे के करीब रमन अपने सहयोगी अर्जुन सोलंकी के साथ अपनी कार में घर आया और तिवारी को गालियां देने लगा। संगीता ने बताया कि तिवारी ने रमन की कार पर गमला फेंका जिसके बाद वे दोनों वहां से चले गए लेकिन 10-15 मिनट बाद दूसरे भाई ओम प्रकाश और दूसरे सहयोगियों के साथ लौटे।

संगीता द्वारा पुलिस को दिए गए बयान के अनुसार आरोपी जबरन दरवाजा तोड़कर घर में घुसे और तिवारी को पीटा। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि तिवारी को एम्स ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस उपायुक्त(दक्षिण) अतुल कुमार ठाकुर ने कहा कि तिवारी की बहन और अन्य गवाहों के बयान के आधार पर भादंसं की धारा 452, 302 और 34 को तहत मामला दर्ज किया गया है।

उन्होंने बताया कि 16 नवंबर को संगम विहार निवासी ओम प्रकाश और उसके सहयोगी योगेश (26), नीरज गुप्ता (26) और अर्जुन सोलंकी (20) को गिरफ्तार कर लिया गया जबकि रमन को पकड़ने के प्रयास किए जा रहे हैं। (एजेंसी)