rajesh-bhushan

    नई दिल्ली: कोरोना टीकाकरण (Corona Vaccination) की रफ्तार को बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार (Central Government) ने सरकारी एवं निजी कार्यालयों (Government and Private Offices) में भी टीकाकरण केंद्र (Vaccination Centres) स्थापित करने का फैसला किया है। निर्णय के तहत यदि किसी भी सरकारी या निजी दफ्तर में 100 लोग जो 45 साल से ज्यादा आयु के हैं तो वहां सेंटर बनाकर वैक्सीनेशन किया जा सकता है। चुने गए स्थान की नजदीकी सरकारी या प्राइवेट हॉस्पिटल की टीम इस कार्य को अंजाम देगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसके दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। सरकार 11 अप्रैल से राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (States and Union Territories) में ऐसा करने की अनुमति देगी।

    केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मुख्य सचिवों को लिखे एक पत्र में कहा कि, इकोनॉमी के ऑर्गनाइज्ड क्षेत्र में 45 वर्ष से अधिक आयु की काफी आबादी है और कार्यालयों (सरकारी एवं निजी) या निर्माण एवं सेवा में, औपचारिक व्यवसाय में शामिल है।

    पत्र में कहा गया, “इस आबादी तक टीकों की पहुंच बढ़ाने के क्रम में, कोविड-19 टीकाकरण सत्रों को मौजूदा कोविड टीकाकरण केंद्र के साथ जोड़ कर उन कार्यस्थलों (सरकारी एवं निजी दोनों) में आयोजित किया जा सकता है जहां करीब 100 पात्र एवं इच्छुक लाभार्थी हैं।” 

    मंत्री ने आगे कहा, “राज्य कार्यस्थलों पर टीकाकरण शुरू करने की तैयारी के लिए निजी/ सरकारी क्षेत्र के नियोक्ताओं एवं प्रबंधन से उचित विचार-विमर्श कर सकते हैं। ऐसे कार्यस्थल टीकाकरण केंद्र 11 अप्रैल, 2021 से सभी राज्यों/ केंद्र शासित प्रदेशों में शुरू किए जा सकते हैं।”