Terrorist

    नई दिल्ली: दिल्ली की अदालत ने 2008 के बाटला हाउस मुठभेड़ मामले (Batla House Encounter Case) में आरिज़ खान उर्फ जुनैद (Arif Khan alias Junaid) को दोषी (Guilty) ठहराया है।

    इंडियन मुजाहिदीन (Indian Mujahideen) का मोस्ट वांटेड आतंकी आरिज़ खान 2008 में बाटला हाउस एनकाउंटर से बचने में कामयाब रहा था। उसे 2018 में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi Police Special Cell) ने गिरफ्तार किया था। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संदीप यादव ने कहा कि अभियोजन पक्ष द्वारा प्रस्तुत साक्ष्यों से अपराध बिना किसी संदेह के साबित हुआ है। 

    एएनआई ने ट्वीट किया, “दिल्ली कोर्ट ने बटला हाउस एनकाउंटर मामले में आरिज़ खान को दोषी ठहराया; अभियोजन पक्ष ने मामले को सफलतापूर्वक साबित कर दिया है।”

    न्यायाधीश ने कहा कि यह साबित होता है कि आरिज खान और उसके साथियों ने पुलिस अधिकारी की हत्या की और उन पर गोली चलाई। अदालत ने कहा कि सजा की अवधि पर 15 मार्च को बहस होगी। 

    दक्षिणी दिल्ली के जामिया नगर इलाके में 2008 में बटला हाउस मुठभेड़ के दौरान दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ के निरीक्षक शर्मा की हत्या कर दी गई थी। इस मामले के संबंध में जुलाई 2013 में एक अदालत ने इंडियन मुजाहिदीन के आतंकवादी शहजाद अहमद को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। इस फैसले के विरुद्ध अहमद की अपील उच्च न्यायालय में लंबित है। 

    आरिज़ खान घटनास्थल से भाग निकला था और उसे भगोड़ा घोषित कर दिया गया था। खान को 14 फरवरी 2018 को पकड़ा गया और तब से उस पर मुकदमा चल रहा था।