येलो अलर्ट के दौरान मेट्रो व अंतर्राज्यीय बसों का परिचालन 50 फीसदी सीटों पर यात्रियों के साथ होगा

    नयी दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में येलो अलर्ट जारी होने पर दिल्ली मेट्रो और अंतर्राज्यीय बसों का परिचालन 50 प्रतिशत सीटों पर यात्रियों के साथ होगा। कोरोना वायरस संक्रमण की संभावित तीसरी लहर के मद्देनजर शुक्रवार को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) द्वारा अनुमोदित एक श्रेणीबद्ध प्रतिक्रिया कार्य योजना में इसकी सिफारिश की गयी है।

    दिल्ली में संक्रमण दर आधा फीसदी से अधिक होने पर, अथवा नये संक्रमितों की संख्या 1500 के पार जाने, अथवा ऑक्सीजन वाले बिस्तरों पर मरीजों की संख्या 500 हो जाने के बाद येलो अलर्ट (स्तर-एक) जारी किया जायेगा। इसके बाद अगले स्तर (स्तर-दो) का एंबर अलर्ट तब जारी किया जायेगा, जब संक्रमण दर एक फीसदी से अधिक, अथवा नये मरीजों की संख्या 3500 के पार, अथवा ऑक्सीजन बिस्तरों पर मरीजों की संख्या 700 पर पहुंच जायेगा ।

    एम्बर अलर्ट भी वहीं सावधानी बरती जायेगी जो यलो अलर्ट में होगी, केवल मेट्रो में यात्रियों की संख्या घटा कर सीट क्षमता का 33 प्रतिशत कर दिया जायेगा । अधिकारियों ने बताया कि इसके अलावा ऑटो रिक्शा, ई रिक्शा एवं कैब में यात्रियों की संख्या केवल दो होगी ।

    ऑरेंज अलर्ट (स्तर तीन) तब जारी किया जायेगा, जब संक्रमण दर दो प्रतिशत को पार कर जायेगा, अथवा नये संक्रमितों की संख्या 9000 हो जाएगी, अथवा आक्सीजन बिस्तरों पर मरीजों की संख्या एक हजार तक पहुंच जायेगी। इसके बाद, संक्रमण दर पांच फीसदी होने पर, अथवा नये संक्रमितों की संख्या 16,000 तक पहुंचने, अथवा आक्सीजन बेड पर मरीजों की संख्या 3000 हो जाने पर रेड अलर्ट जारी किया जायेगा।