दिल्ली में 503 पृथक-वास कोचों में से 317 आज रात तक तैयार होंगे :रेलवे

नयी दिल्ली. उत्तर रेलवे ने बुधवार को कहा कि दिल्ली में विभिन्न स्टेशनों पर लगाए गए 503 पृथक-वास रेल कोचों में से 317 डिब्बे आज रात तक कोरोना वायरस रोगियों के लिए तैयार हो जाएंगे और बाकी कोच बृहस्पतिवार तक तैयार होंगे। अधिकारियों ने बताया कि रेलवे ने दिल्ली के नौ स्टेशनों पर 503 कोच कोरोना वायरस संक्रमितों के पृथक-वास के लिए लगाए हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के उपायों के तहत यह घोषणा की थी। शाह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ रविवार को दिल्ली में कोविड-19 के हालात को लेकर बैठक के बाद यह घोषणा की थी। दिल्ली में अब तक 44,688 लोग संक्रमित मिले हैं और 1,837 लोगों की जान संक्रमण की वजह से जा चुकी है। उत्तर और उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने कहा कि सारे कोच बृहस्पतिवार तक कोरोना वायरस के रोगियों को रखने के लिए पूरी तरह तैयार होंगे। इनमें से 317 में आज रात से ही रोगियों को रखा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक कोच में 16 रोगियों को रखा जा सकता है। इस तरह 503 कोच में करीब 8,000 बिस्तर होंगे। उन्होंने यह भी कहा कि रेलवे इस बात का पूरा ध्यान रख रहा है कि बोगियों के अंदर विभिन्न तरीके अपनाकर तापमान कम रखा जाए। उन्होंने कहा, ‘‘पृथक-वास कोचों में तापमान एक मुद्दा है। लेकिन चिकित्सा विशेषज्ञों की राय में तापमान से रोगियों को नुकसान नहीं होगा। हमने अनेक तरीकों से डिब्बों को ठंडा करने के इंतजाम किए हैं।” चौधरी ने कहा, ‘‘सभी कोच में पंखे हैं, हमारे पास एक पेंट है जो तापमान कम करता है, हम पानी छिड़क सकते हैं। हम आपको विश्वास दिलाते हैं कि तापमान असहनीय नहीं होगा।” उन्होंने कहा, ‘‘शकूर बस्ती स्टेशन पर एक शेड है, तो वहां तापमान कम ही है। अन्य स्थानों पर हम विभिन्न चीजों के साथ प्रयोग कर रहे हैं।” एक वरिष्ठ रेलवे अधिकारी ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि रेलवे ने उत्तर और उत्तर मध्य जोन के पृथक-वास के लिए तैयार किये गये कोचों में से सौ बोगियों की छतों को अनुसंधान डिजाइन और मानक संगठन के मानकों के अनुसार इंसुलेट करने का प्रयोग शुरू किया है।

उन्होंने कहा कि इससे कोच के अंदर का तापमान पांच से छह डिग्री सेल्सियस तक कम होने में मदद मिल सकती है। कोविड-19 के मरीजों के लिए चिकित्सा देखभाल सुविधाएं बढ़ाने के लिए अब तक पांच राज्यों में ऐसे 960 पृथक-वास कोच लगाए गए हैं। दिल्ली के आनंद विहार रेलवे स्टेशन के सात प्लेटफॉर्म पर ऐसे 267 कोच लगाए गए हैं। शकूर बस्ती, सराय रोहिल्ला सहित अन्य में 50-50 कोच लगाए गए हैं। उन्होंने बताया कि रेलवे ने दिल्ली कैंट में 33 पृथक-वास कोच लगाए हैं, 30 कोच आदर्श नगर में, 21 कोच सफदरजंग में, 13-13 कोच तुगलकाबाद तथा शाहदरा स्टेशन पर और 26 पटेल नगर में लगाए गए हैं। चौधरी ने यह भी कहा कि दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बुधवार को शकूर बस्ती स्टेशन पर कोचों का निरीक्षण किया और उम्मीद जताई कि जरूरत पड़ने पर रोगी आना शुरू हो जाएंगे। ये कोच ऑक्सीजन सिलेंडर, कंबल, चिकित्सा सामग्री, संक्रमणमुक्त की गई बर्थ समेत आवश्यक चिकित्सा उपकरणों से लैस हैं। रेल मंत्रालय के मुताबिक इनमें मच्छरदानियां, लैपटॉप तथा फोन के लिए चार्जिंग प्वाइंट होंगे। शौचालयों को बाथरूम में बदला गया है। (एजेंसी)