satyendra jain

    नयी दिल्ली. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Health Minister Satyendra Jain) ने दिल्ली (Delhi) में फिर से लॉकडाउन (Lockdown) लगाने की संभावना से शनिवार को इनकार कर दिया और कहा कि यह कोरोना वायरस (Coronavirus) को फैलने से रोकने का समाधान नहीं है। गौरतलब है कि दिल्ली समेत देश के विभिन्न हिस्सों में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में पिछले कुछ दिनों में काफी वृद्धि हुई है। जैन ने कहा कि पहले लॉकडाउन लागू करने का एक कारण था, क्योंकि किसी को इस वायरस के बारे में अधिक जानकारी नहीं थी।

    उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “किसी व्यक्ति को संक्रमित होने और उससे उबरने में 14 दिन का समय लगता है। विशेषज्ञों ने कहा कि यदि 21 दिन का लॉकडाउन लगाया गया, तो वायरस खत्म हो जाएगा।” जैन ने कहा, “प्राधिकारी लॉकडाउन की अवधि बढ़ाते रहे, लेकिन वायरस समाप्त नहीं हुआ। मुझे नहीं लगता कि लॉकडाउन कोई समाधान है।”

    उन्होंने कहा कि शहर में एक और लॉकडाउन लगाने की “कोई संभावना” नहीं है। जैन ने कहा कि होली समारोह के लिए जारी दिशानिर्देश का उल्लंघन करते पाये गए व्यक्तियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने मंगलवार को आदेश दिया था कि आगामी त्योहारों जैसे होली और नवरात्रि के दौरान राष्ट्रीय राजधानी में कोई सार्वजनिक उत्सव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने यह सुनिश्चित करने के लिए कई टीमों का गठन किया है कि लोग होली पर उसके निर्देशों का पालन करें।

    उन्होंने कहा कि जिला मजिस्ट्रेट और पुलिस ने जिलेवार टीमें बनाई हैं। उन्होंने कहा कि उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी मंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस के मरीजों के लिए अस्पतालों में बिस्तरों की पर्याप्त संख्या है और आवश्यकता पड़ने पर इनकी संख्या बढ़ाई जा सकती है।

    उन्होंने कहा, “वर्तमान में मात्र 20 प्रतिशत बिस्तर पर मरीज हैं।” मंत्री ने कहा कि दिल्ली में प्रतिदिन करीब 90,000 जांच की जा रही है, जो कि राष्ट्रीय औसत का पांच गुना है। उन्होंने कहा कि बाहर से आने वालों की जांच करने के लिए रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों पर बिना क्रम के जांच की जा रही है। मंत्री ने कहा कि बदलते मौसम और मामलों की संख्या में वृद्धि का सीधा संबंध देखा जा सकता है। उन्होंने कहा, “हालांकि, यह स्पष्ट रूप से नहीं कहा जा सकता है कि यह मामलों में बढ़ोतरी का एकमात्र कारण है।”

    स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि दिल्ली में शुक्रवार को लगातार दूसरे दिन कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 1,500 से अधिक दर्ज की गई। दिल्ली के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि दिल्ली में शुक्रवार को कोविड-19 के नौ और मरीजों ने दम तोड़ दिया, जो पिछले करीब दो माह के दौरान सबसे अधिक संख्या है।

    महानगर में संक्रमण के 1,534 नए मामले सामने आने के साथ ही यहां संक्रमित लोगों की कुल संख्या बढ़कर 6,54,276 हो गई, जबकि 6.36 लाख से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं। आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 16 दिसंबर को सामने आए संक्रमण के 1,547 मामलों के बाद शुक्रवार को एक ही दिन में सर्वाधिक नए मामले सामने आये हैं। (एजेंसी)