sonia

    नई दिल्ली: संसद के मॉनसून सत्र से पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने संसद के लिये पार्टी के रणनीतिक समूहों को पुनर्गठित करते हुये पार्टी नेताओं मनीष तिवारी और शशि थरूर को लोकसभा में जबकि अम्बिका सोनी तथा दिग्विजय सिंह को राज्यसभा के समूह में शामिल किया। 

    थरूर और तिवारी जी-23 नेताओं में शामिल हैं, जिन्होंने पिछले साल संगठन में बदलाव की मांग करते हुए गांधी को पत्र लिखा था। इस पत्र के बाद पार्टी में तहलका मच गया था।

    गांधी ने एक बयान में कहा कि सोमवार से शुरू हो रहे मॉनसून सत्र के दौरान संसद के दोनों सदनों में पार्टी के प्रभावी कामकाज को सुनिश्चित करने के लिए समूहों का पुनर्गठन किया गया है। ये समूह सत्र के दौरान प्रतिदिन बैठक करेंगे और अंतर-सत्र अवधि के दौरान भी बैठक कर सकते हैं। लोकसभा के लिए संसदीय रणनीति समूह का नेतृत्व अधीर रंजन चौधरी कर रहे हैं। लोकसभा में उपनेता गौरव गोगोई, मुख्य सचेतक के सुरेश, सचेतक रवनीत सिंह बिट्टू और मनिकम टैगोर समूह के सदस्य हैं। तिवारी और थरूर को इस समूह में शामिल किया गया है। (एजेंसी)

    राज्यसभा में, रणनीति समूह में शामिल नए सदस्य अंबिका सोनी और दिग्विजय सिंह हैं, जबकि पी चिदंबरम भी समूह का हिस्सा हैं। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे राज्यसभा में रणनीति समूह के नेता हैं जबकि कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल के अलावा पार्टी के उपनेता आनंद शर्मा और उच्च सदन में पार्टी के मुख्य सचेतक जयराम रमेश भी समिति के सदस्य हैं। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि जरूरत पड़ने पर इन समूहों की संयुक्त बैठकें बुलाई जा सकती हैं, जिसके संयोजक मल्लिकार्जुन खड़गे होंगे।