Representative Image
Representative Image

    नई दिल्ली: अरब सागर (Arabian Sea) में 1982 से 2019 के बीच चक्रवातों (Cyclones)की आवृत्ति 52 प्रतिशत और उसके पिछले दो दशकों के मुकाबले बहुत गंभीर चक्रवातों की आवृत्ति 150 प्रतिशत बढ़ी है। एक हालिया अध्ययन (Study) में यह कहा गया है। वहीं, बंगाल की खाड़ी में इसी अवधि में आने वाले चक्रवातों की आवृत्ति में कुछ कमी आयी है।

    अध्ययन के सह-लेखक एम. के. रॉक्सी ने कहा कि अरब सागर में चक्रवात की घटनाओं में वृद्धि काफी हद तक समुद्र के बढ़ते तापमान और जलवायु परिवर्तन के कारण बढ़ रहे उसम के कारण है।  उन्होंने कहा, ‘‘अरब सागर में चक्रवातों की संख्या में 52 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। वहीं, बहुत गंभीर चक्रवातों की संख्या में 150 प्रतिशत की बढ़ोत्तरी हुई है। वहीं, 1982 से 2019 के बीच बंगाल की खाड़ी में चक्रवातों की संख्या में आठ प्रतिशत की कमी आयी है।”

    यह अध्ययन मेघा देशपांडे, विनीत कुमार सिंह, मानो क्रांति गांधी, एम. के. रॉक्सी, आर. एमैनुएल और उमेश कुमार ने की है। रॉक्सी ने बताया कि पिछले दो दशकों में अरब सागर में चक्रवातों की अवधि में 80 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। बेहद गंभीर चक्रवातों की अवधि में 260 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। लेकिन, बंगाल की खाड़ी में चक्रवातों की अवधि में कोई खास बदलाव नहीं हुआ है। (एजेंसी)