धनखड़ -शाह के बीच चर्चा, बंगाल में ममता के लिए चुनौतियां बढ़ीं

बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Jagdeep Dhankhar) की केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) से हुई मुलाकात राज्य में कुछ माह बाद होनेवाले विधानसभा चुनावों को देखते हुए उल्लेखनीय कही जाएगी. धनखड़ ने राज्य में व्याप्त असुरक्षा और कानून व्यवस्था का मुद्दा उठाया. बंगाल में चुनाव के समय होनेवाली भारी हिंसा की संभावना से उन्होंने गृहमंत्री को अवगत कराया. राज्यपाल का शुरू से ही मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) से छत्तीस का आंकड़ा बना हुआ है.

ममता की पूर्व राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी (Kesarinath Tripathi) से निभ जाती थी लेकिन जब से जगदीप धनखड़ ने राज्यपाल का पद संभाला तभी से उनकी मुख्यमंत्री से खटपट शुरू हो गई. राज्यपाल को बतौर चांसलर जाधवपुर यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में जाने के लिए ममता ने हेलीकाप्टर उपलब्ध नहीं कराया था इसलिए धनखड़ को कार से ही लंबा सफर तय करना पड़ा था. धनखड़ ने अमित शाह को बताया कि बंगाल में घोर असुरक्षा व्याप्त है. कानून व्यवस्था बुरी तरह ठप है. बंगाल के पुलिस महानिदेशक का मामला जगजाहिर है. राज्यपाल ने दावा किया कि बंगाल में ‘राजनीतिक पुलिस’ है जो बीजेपी के खिलाफ ममता बनर्जी व तृणमूल कांग्रेस का पूरी तरह साथ देती है. रोज कहीं बम पाए जा रहे हैं तो कहीं धमाके हो रहे हैं. राज्यपाल को भी मालूम होगा कि बंगाल में लेफ्ट के 3 दशकों की हुकूमत में भी यही हुआ करता था. बम कल्चर वहां की पहचान रही है. ममता भी लेफ्ट को उसी के तौरतरीकों से मात देकर सत्ता में आई थीं.

बंगाल का जनमानस अन्य प्रदेशों से भिन्न रहा है. जब चुनाव मार्च-अप्रैल तक होने की संभावना है तो केंद्र कानून व्यवस्था ठप हो जाने के नाम पर बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू नहीं करेगा क्योंकि ऐसा करने से ममता को सहानुभूति मिल जाएगी. बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में बंगाल से 19 सीटे जीती थी इसलिए उसने इस राज्य में जीत का मिशन बनाया है और एड़ी चोटी का जोर लगा रही है. अमित शाह व बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा के लगातार बंगाल दौरे हुए हैं. ममता के सिपहसालार सुबेंदु अधिकारी का तृणमूल छोड़ बीजेपी में शामिल हो जाना एक बड़ी घटना है. ममता के सामने एक ओर बीजेपी और दूसरी ओर कांग्रेस और लेफ्ट के मोर्चे की चुनौती होगी. देखना होगा कि क्या बंगाल के मतदाता एंटी इनकम्बेंसी या बदलाव का वोट देंगे.