CBSE के बाद CISCE ने भी रद्द की 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाएं, कोरोना संकट के चलते लिया निर्णय

    नयी दिल्ली. सीआईएससीई (CISCE) ने कोविड-19 की स्थिति को देखते हुए इस वर्ष 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं (Class 12 Board Exams) को रद्द करने का निर्णय किया है। बोर्ड के सचिव गेरी अराथून ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, “परीक्षाओं को रद्द कर दिया गया है। वैकल्पिक आकलन मानकों की जल्द घोषणा की जाएगी।” काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशंस (सीआईएससीई) का निर्णय सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाओं को रद्द करने की तर्ज पर लिया गया है।

    सीबीएसई परीक्षाओं का रद्द करने का निर्णय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में उच्चस्तरीय बैठक के दौरान लिया गया। सीआईएससीई ने मंगलवार की रात जारी आधिकारिक आदेश में कहा, ‘‘देश में कोविड-19 महामारी की वर्तमान स्थिति को देखते हुए सीआईएससीई ने 2021 के लिए आईएससी (12वीं कक्षा) की परीक्षाएं रद्द करने का निर्णय किया है। छात्रों, शिक्षकों और इस प्रक्रिया से जुड़े सभी लोगों की सुरक्षा, स्वास्थ्य हमारी शीर्ष प्राथमिकता है।”

    इसने कहा, “परीक्षा परिणाम एक प्रणाली के आधार पर तैयार किया जाएगा जिसमें स्कूलों द्वारा आयोजित आंतरिक परीक्षाओं को भी शामिल किया जाएगा। स्कूलों को आने वाले समय में इस प्रणाली के बारे में सूचित कर दिया जाएगा।”

    12वीं कक्षा की परीक्षाओं के परिणाम घोषित किए जाने के बाद अगर कुछ छात्र अपने अंकों से संतुष्ट नहीं होंगे तो सीआईएससीई ऐसे छात्रों को अनुकूल माहौल होने के बाद लिखित परीक्षा देने का विकल्प देगी।

    सीआईएससीई ने पिछले हफ्ते संबद्ध स्कूलों से छात्रों के 11वीं कक्षा और इस सत्र के दौरान 12वीं कक्षा में प्राप्त अंकों का औसत मुहैया कराने के लिए कहा था। परीक्षाएं चार मई से होने वाली थीं। (एजेंसी)