दिल्ली में स्कूल खोलने की मांग, जानें क्या बोले डिप्टी CM मनीष सिसोदिया

    नई दिल्ली : कोरोना महामारी के चलते देश में शिक्षा को लेकर बच्चों का भारी नुकसान हो रहा है। वर्तमान में कोरोना के सुधार को देखते हुए देश के सभी राज्यों में धीरे-धीरे कर सभी स्कूल खोले जा रहे है। कोरोना की वजह से दिल्ली के स्कूल पिछले दो साल से बंद चल रहे हैं। ऑनलाइन क्लास (online class) के जरिए ही बच्चों को पढ़ाया जा रहा है।

    इस बीच दिल्ली स्टेट पब्लिक स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन (public school management association) ने राजधानी में स्कूल खोलने की मांग की है। एसोसिएशन का कहना है कि दिल्ली में संक्रमण दर एक फीसदी से नीचे चल रही है। ऐसे में कुछ पाबंदियों के साथ स्कूल खोले जाने चाहिए। दो वर्ष बच्चों के लिहाज से बेहद अधिक समय हो जाता है। स्कूल बंद होने की वजह से बच्चों पर इसका बहुत प्रभाव पड़ रहा।  

    एसोसिएशन के अध्यक्ष आरसी जैन ने कहा…. 

    दिल्ली स्टेट पब्लिक स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष आरसी जैन (RC Jain) ने कहा कि बीते दिनों एम्स निदेशक ने पांच फीसदी से कम संक्रमण दर होने पर स्कूलों को खोले जाने की बात कही थी। इसके बाद से अभिभावक स्कूल प्रबंधकों से स्कूल खोले जाने को लेकर संपर्क कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश के कई राज्यों में स्कूल खुलने लगे हैं।

    दिल्ली में तीसरी लहर के संभावना के मद्देनजर स्कूल बंद करना सही नहीं है। इस बंदी से एक तरफ जहां उनकी पढ़ाई का नुकसान हो रहा है, वहीं दूसरी तरफ उनको शारीरिक नुकसान भी हो रहा है। ऑनलाइन कक्षाओं से उनके आंखों में दुष्प्रभाव के साथ बच्चे मोटापे व चिड़चिड़ापन के शिकार हो रहे हैं। ऐसे में आवश्यक है कि जल्द से जल्द कोरोना पाबंदियों के साथ स्कूल खोले जाएं। जो छात्रों के साथ ही अभिभावकों व स्कूलों के हित में है।

    स्कूल खोलने की मांग पर जानें क्या बोले शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया

    दिल्ली स्टेट पब्लिक स्कूल मैनेजमेंट एसोसिएशन के स्‍कूल खोलने की मांग पर शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि सरकार बच्चों और अभिभावकों की परेशानी समझ रही है। सिसोदिया ने कहा कि कोरोना की वजह से दिल्ली में स्कूलों को बंद हुए 2 साल से ज्यादा का वक्त हो चुका है। ऑनलाइन क्लास के जरिए ही बच्चों को पढ़ाया जा रहा है, लेकिन इस बीच घर पर ऑनलाइन क्लास को लेकर बच्चों के साथ पेरेंट्स को भी काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है।

    परेशानियों को समझने और उसके बाद इसके समाधान को लेकर काम करने के लिये दिल्ली सरकार ने सभी स्कूलों में मेगा पेरेंट्स टीचर यानी पेरेंट्स टीचर मीटिंग का आयोजन किया है। इसके जरिये घर पर पेरेंट्स और बच्चों को ऑनलाइन क्लास लेने में आ रही परेशानी पर चर्चा की जाएगी । 

    इन तारीखों तक होगी पेरेंट्स

    टीचर मीटिंगशिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया कि पेरेंट्स टीचर मीटिंग 19 जुलाई से लेकर 31 जुलाई तक होगी। इस पैरेंट टीचर मीटिंग के जरिये शिक्षक बच्चों को 10वीं और 12वीं क्लास की बदली हुई परीक्षा नीति के बारे में भी समझायेंगे साथ ही इस पर भी पैरेंट्स और टीचर को समझाया जायेगा कि आगे ऑनलाइन क्लास किस तरह से चलेगी। इस मेगा पेरेंट्स टीचर का जायज़ा लेने दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया भी पूर्वी दिल्ली के कोंडली इलाके के एक सरकारी स्कूल में पहुंचे थे।