GOA-BOARD

    पणजी. इस साल 10वीं कक्षा की परीक्षा रद्द करने वाले गोवा शिक्षा बोर्ड (Goa Board)  ने शैक्षणिक सत्र के दौरान स्कूलों द्वारा किए गए आंतरिक मूल्यांकन और बोर्ड द्वारा विकसित मापदंड के आधार पर छात्रों के परिणाम को अंतिम रूप देने के लिए एक योजना तैयार की है। माध्यमिक और उच्च माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (जीबीएसएचएसई) की कार्यकारिणी समिति ने शनिवार को बैठक में एक योजना तैयार की।

    बोर्ड से संबद्ध सभी स्कूल इसका अनुपालन करेंगे। दसवीं कक्षा के छात्रों के परिणाम तय करने में कदाचार पाए जाने पर स्कूलों की मान्यता रद्द किए जाने या जुर्माना लगाने की कार्रवाई हो सकती है। बोर्ड ने कहा है कि गोवा में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण इस साल 13 मई से चार जून तक होने वाली परीक्षाएं स्थगित कर दी गयी हैं। बोर्ड ने कहा, ‘‘दसवीं की बोर्ड परीक्षा के नतीजे स्कूलों द्वारा आंतरिक मूल्यांकन और बोर्ड द्वारा निर्धारित अर्हता मापदंड के आधार पर तैयार किए जाएंगे।”

    दिए गए अंक से असंतुष्ट छात्रों को परीक्षा के लिए अनुकूल हालात बनने पर परीक्षा देने का अवसर मिलेगा। गोवा बोर्ड से संबद्ध स्कूलों को अपने संस्थानों और आसपास के स्कूलों के शिक्षकों की भागीदारी से एक परिणाम समिति बनाने को कहा गया है। राज्य बोर्ड ने कक्षा 12वीं की परीक्षा के बारे में अभी कोई घोषणा नहीं की है।