Pic Credit: Twitter
Pic Credit: Twitter

    बुधवार देर रात राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) ने संयुक्त प्रवेश परीक्षा (JEE) मेन के मार्च (March) सत्र के रिजल्ट (JEE Result)  की घोषणा कर दिया है। इस रिजल्ट में 13 छात्रों ने 100 पर्सेंटाइल (100 percentile) हासिल किए हैं। वहीं इस को देने वाले छात्र 6,19,368 थे, जिनमें से दिल्ली (Dehli) की रहने वाली काव्या चोपड़ा (Kavya Chopra) ने इस परीक्षा में 300/300 अंक हासिल किया है। साथ ही उन्होंने इतिहास भी रच दिया है, क्योंकि वह JEE Main में 100 पर्सेंटाइल पाने वाली पहली महिला है। 

    इस संदर्भ में काव्या कहती हैं कि, जेईई मेन के फरवरी सत्र में उन्होंने 99.97 पर्सेंटाइल हासिल किए थे। लेकिन वह इससे खुश नहीं थी, क्योंकि उन्हें 99.98 पर्सेंटाइल चहिए थे, इसलिए उन्होंने जेईई मेन के मार्च सत्र की परीक्षा देने का फैसला किया। इस अटेम्प्ट के लिए उन्होंने अपना सबसे ज़्यादा फोकस फिजिक्स और केमिस्ट्री सब्जेक्ट में लगाया, लेकिन फिर भी उनके मार्क्स केमिस्ट्री में कम आए। जिसके बाद उन्होंने देखा कि कौनसा टॉपिक उनका वीक है, फिर उन्होंने इन 15 दिनों के अंतराल में अपना पूरा ध्यान केमिस्ट्री विषय पर लगाया और कमजोर टॉपिक्स पर जमकर मेहनत की। बता दें काव्या ने कक्षा दसवीं में 97.6 प्रतिशत अंक प्प्राप्त किए थे। इन सबके अलावा वह आईओक्यूपी, आईओक्यूसी और आईओक्यूएम भी क्वालीफाई कर चुकी हैं। 

    जानकारी के लिए बता दें कि,सौ प्रतिशत अंक लाने वालों में दिल्ली के सिद्धार्थ कालरा, तेलंगाना के बन्नूरू रोहित कुमार रेड्डी, मदुर आदर्श रेड्डी तथा जोसयुला वेंकट आदित्य, पश्चिम बंगाल के ब्रतिन मंडल, बिहार के कुमार सत्यदर्शी, राजस्थान के मृदुल अग्रवाल तथा जेनिथ मल्होत्रा, तमिलनाडु के अश्विन अब्राहम और महाराष्ट्र के अथारवा अभिजीत तांबट तथा बक्शी गार्गी मारकंड शामिल हैं।