MPSC-UPSC : इस वर्ष आयु सिमा पार करने वाले छात्रों को एक और अवसर मिलेगा – उदय सामंत

मुंबई. देश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए पिछले 25 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा की गई थी। यह लॉकडाउन 21 दिनों के लिए था। इस दौरान सभी परीक्षा रद्द कर दी गई थी। लेकिन राज्य की वर्तमान स्थिति को देखते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने यह लॉकडाउन 30 अप्रैल तक बढ़ने की घोषणा की है। इसलिए स्पर्धा परीक्षा देने वाले छात्रों को एक साल की राहत दी जाने पर विचार विमर्श हो रहा है।  

राज्य के उच्च और तकनिकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने आयु सिमा पार करने वाले छात्रों को राहत दी है। कोरोना के कारण जो परीक्षा नहीं हुई और जिन छात्रों की आयु सिमा इस वर्ष ख़त्म होने वाली है उनके लिए एक और वर्ष का अवधि बढाकर दिए जाने का आश्वासन दिया है। 

यूपीएससी और एमपीएससी परीक्षा के लिए उम्मीदवार को एक आयु सीमा के भीतर आवेदन करना होता है। लेकिन इस साल कोरोना के चलते यूपीएससी और एमपीएससी की परीक्षा होगी या नहीं यह बताया नहीं जा सकता। यदि कोरोना के कारण इस वर्ष की परीक्षा रद्द कर दी गई, तो जिन छात्रों की आयु सिमा ख़त्म हो रही है उनके साथ अन्याय होगा। यह छात्र अगले साल परीक्षा के लिए पात्र नहीं रहेंगे।

उदय सामंत, उच्च और तकनिकी शिक्षा मंत्री
 

इसलिए ऐसे छात्रों को फिर से परीक्षा को बिठाने के लिए उनकी आयु में एक साल की बढ़ोतरी करना आवश्यक है। इस समय उदय सामंत ने मुख्यमंत्री से चर्चा और छात्रों को न्याय दिलाने के लिए प्रयास करने का आश्वासन दिया। 

इस बीच, उदय सामंत और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के साथ चर्चा के बाद ही यह पता चलेगा की छात्रों की आयु सिमा 1 वर्ष बढ़ाई जाएगी या नहीं। यदि ऐसा होता है तो एमपीएससी और यूपीएससी छात्रों को बढ़ी राहत मिलेगी।