प‍िता लगाते हैं चाट का ठेला, बेटे ने JEE में हासिल किए 99.91 प्रतिशत अंक

    गोरखपुर. कहते है ना प्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती! गरीबी आपकी राह में कुछ रुकावटें जरूर पैदा कर सकती है, पर आपके हौसले को नहीं तोड़ सकती। दिल में चाह है तो कोई मंजिल दूर नहीं। गोरखपुर के एक लड़के की कड़ी मेहनत रंग लाई है। विवेक गुप्ता (Vivek Gupta)ने जेईई मेन की परीक्षा में 99.91 परसेंटाइल हासिल कर पिता का नाम रोशन किया है। बता दें कि, पिता चाट का ठेला लगाकर परिवार को चलाते हैं।   

    सोमवार को जेईई मेन का रिजल्ट आने के बाद गोरखपुर के विजय गुप्ता के परिवार में खुशी का ठिकाना नहीं रहा। जब उन्हें पता चला की बेटे विवेक गुप्ता ने जेईई मेन की परीक्षा में 99.91 परसेंटाइल मिले है। बिहार के मूल निवासी और यहां बशारतपुर में किराए के मकान में रहने वाले विवेक के पिता बशारतपुर में ही चाट का ठेला लगाते हैं। इसी से उनके परिवार का खर्च चलता है। बेटे को इंजीनियर बनाने के लिए उन्होंने मेहनत की, पर उम्मीद नहीं खोई।

    पैसों की तंगी के बावजूद विजय ने अपने बेटे के लक्ष्य में कोई दिक्कत नहीं आने दी। हालांकि उसके लिए उन्हें कर्ज भी लेना पड़ा, पर उन्होंने हिम्मत नहीं हारी। 

    वहीं मां फूल कुमारी का कहना है कि आज मेरे लिए बहुत बड़ी खुशी का दिन है। मेरी पूंजी मेरे ये तीनो बेटे है, तीनों बेटे ही पढ़ाई में अव्वल हैं।  इन बच्चों के लिए मैं अपनी सारी खुशियां त्यागने को तैयार हूं।

    वहीं विवेक ने अपनी सफलता का श्रेय पूरे परिवार को दिया और कहा कि सफलता में मेरे माता-पिता के साथ मेरे बड़े भाइयों का भी बहुत बड़ा योगदान है। विवेक के बड़े भाई धीरज ने बताया कि हम तीन भाई हैं, विवेक सबसे छोटा है। पूरे परिवार ने विवेक के लिए बहुत त्याग किया है। आर्थिक तंगी का असर कभी भी विवेक की पढ़ाई में नहीं आने दिया।