विशाखा यादव को UPSC में छठी रैंक, रणनीति बनाकर पढ़ाई करना मददगार साबित हुआ

नई दिल्ली. संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा में छठी रैंक हासिल करने वाली सॉफ्टेवयर इंजीनियर विशाखा यादव ने दो प्रयासों में विफल रहने के बाद भी हार नहीं मानी और तीसरी बार उनकी मेहनत रंग लायी। विशाखा के पिता दिल्ली पुलिस में सहायक उप निरीक्षक हैं। यादव ने कहा कि इससे पहले भी उन्होंने दो बार वर्ष 2017 और 2018 में सिविल सेवा परीक्षा में हिस्सा लिया था लेकिन सफलता नहीं मिली। उन्होंने पीटीआई-भाषा से कहा, ” यह मेरा तीसरा प्रयास था और मुझे अब भी यकीन नहीं हो रहा कि मैं छठी रैंक पर हूं।”

उन्होंने कहा कि रणनीति बनाकर पढ़ाई करना उनके लिए खासा मददगार साबित हुआ और इसी के चलते तीसरे प्रयास में सफलता हासिल हुई है। वहीं, दिल्ली पुलिस निरीक्षक की 25 वर्षीय बेटी नवनीत मान ने सिविल सेवा परीक्षा में 33वीं रैंक हासिल की है। मान ने कहा कि वह बेहद प्रसन्न हैं और इस बात को लेकर बेहद संतुष्ट हैं कि उन्होंने अपने दूसरे प्रयास में ही 33वीं रैंक हासिल की। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने तत्काल अपने पिता को फोन किया और उन्हें सूचना दी। हालांकि, मैं उनकी शुरुआती प्रतिक्रिया नहीं देख सकती थी। मैं बहुत खुश थी और नतीजे से काफी संतुष्ट हूं।” मान के पिता सुखदेव सिंह मान वर्तमान में दिल्ली पुलिस की सर्तकता इकाई में तैनात हैं।(एजेंसी)