Photo; Instagram
Photo; Instagram

    मुंबई: देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ रहा है। कोरोना की वजह से इस वक़्त पूरा देश परेशान है। कोरोना महामारी से निपटने के लिए पूरी दुनिया संघर्ष कर रही है। ऐसे में नेता हो या अभिनेता कोई भी कोरोना के कहर से नहीं बच पा रहा है। रोजाना किसी न किसी एक्टर के कोरोना पॉजिटिव होने की खबर सामने आ रही है। ऐसे में ये खबर सामने आई रमेश तौरानी (Ramesh Taurani) की टिप्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Tips Industries Limited) फेक वैक्सीनेशन का शिकार बन गया है। अब  एक और प्रोडक्शन हाउस बना फेक वैक्सीनेशन का शिकार हो गया है। मैचबॉक्स पिक्चर्स (Matchbox Pictures) नामक प्रोडक्शन हाउस ने हाल ही में एसपी इवेंट्स के जरिए अपने कर्मचारियों का वैक्सीनेशन कराया था। उन्होंने कोकिलाबेन अस्पताल (Kokilaben Hospital) से जुड़े होने का दावा किया था। 

    मैचबॉक्स के कर्मचारियों को सर्टिफिकेट भी नहीं मिला है। ओशिवारा पुलिस ने इस प्रोडक्शन हाउस से संपर्क किया। इसके बाद में ये मामला वर्सोवा पुलिस को दे दिया गया और फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है। बता दें कि मैचबॉक्स पिक्चर्स ने कई हॉलीवुड फिल्मों के अलावा अंधाधुंध जैसी फिल्में बनाई हैं। इससे पहले रमेश तौरानी ने इंडिया टुडे टेलीविज़न से बात करते हुए पुष्टि की, “हां, हम अभी भी प्रमाणपत्रों की प्रतीक्षा कर रहे हैं और जब मेरे कार्यालय के लोगों ने उनसे (एसपी इवेंट्स से संजय गुप्ता) संपर्क किया, तो उन्होंने कहा कि यह इस शनिवार (12 जून) तक आ जाएगा, हमें मिल गया 356 लोगों ने टीका लगाया और प्रति खुराक 1,200 रुपये और जीएसटी का भुगतान किया। लेकिन पैसों से ज्यादा अब हमें इस बात की चिंता है कि हमें क्या दिया गया। क्या यह वास्तविक कोविशील्ड या कोई खारा पानी है?”

    तोरानी ने कहा, “हमें बताया गया था कि हमें कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल से टीकाकरण प्रमाण पत्र मिलेगा।” बता दें कि मुंबई सोसाइटी के कांदिवली में वैक्सीनेशन रैकेट मामले के सामने आने के बाद कई प्रोडक्शन हाउस भी इसमें फंसे नजर आ रहे हैं। रमेश ने अपने कर्मचारियों के लिए मई 30 से 3 जून तक वैक्सीनेशन कैम्प रखवाए थे, लेकिन अभी तक किसी को सर्टिफिकेट नहीं मिला है। वहीं रिपोर्ट्स के मुताबिक मैचबॉक्स पिक्चर्स के लगभग 150 कर्मचारियों और परिवार वालों को 29 मई को वैक्सीनेशन का पहला शॉट लगा था।