Madhya Pradesh cops provide security to Kangana Ranaut after Congress leaders' threat

    मुंबई: बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) हमेशा अपने किसी फिल्म के वजह से या अपने सोशल मीडिया अकाउंट (Social Media Account) के पोस्ट की वजह से, या तो कभी अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में बनी रहती हैं। कंगना सामाजिक और राजनीतिक हर एक मुद्दे पर खुलकर अपनी राय रखती नजर आती हैं। लेकिन हाल ही में कंगना का ट्विटर अकाउंट (Twitter Account) सस्पेंड कर दिया गया है। ट्विटर से बेदखल होने के बाद कंगना इन दिनों इंस्टाग्राम के ज़रिए अपने विचार रख रही हैं। हालांकि, ऐसा करने के लिए वो नियमित पोस्ट से अधिक इंस्टा स्टोरी का इस्तेमाल करती हैं। अब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर और केंद्र सरकार के बीच चल रही खींचतान में अब कंगना रनोट भी कूद पड़ी हैं। 

    कंगना ने इंस्टा स्टोरी में लिखा कि ‘बेचारा ट्विटर। अभिव्यक्ति की आज़ादी की बात कर रहा है। महान ट्विटर, संसद का बिना चुना सदस्य, दुनिया का सुप्रीम न्यायाधीश, मानवता के नैतिक कम्पास का रखवाला… और उनकी मूल योग्यताएं क्या हैं, जो उन्हें यह स्पेशल ताक़त मिल गयी है? ये हैं कौन? मुट्ठी भर नशेड़ी, जिन्हें आसानी से खरीदा और बेचा जा सकता है। हर चीज़ की तो क़ीमत है। फॉलोअर्स से लेकर प्रमोशनल ट्वीट्स तक। यह पैसे के लोभी निजी व्यापारी और पूंजीपति देश चलाना चाहते हैं, सरकारों को तंग और नियंत्रित करना चाहते हैं। क्या वाकई हमने ईस्ट इंडिया कम्पनी से कुछ नहीं सीखा?’

    बता दें, यह पहली बार नहीं है, जब कंगना ने ट्विटर पर भड़ास निकाली हो। कंगना का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया है। ट्विटर ने बताया है कि उन्होंने इस प्लेटफॉर्म के नियमों का उल्लंघन किया है। बता दें कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव का परिणाम आने के बाद इस अभिनेत्री ने कुछ विवादित ट्वीट्स किए थे।