dont-know-when-passion-became-purpose-shah-rukh-khan-on-completing-28-years-in-bollywood

शाहरुख ने इस महीने बॉलीवुड में 28 साल पूरे कर लिये हैं। टेलीविजन से लेकर बड़े पर्दे तक सफलता की बुलंदियों को छूने वाले शाहरुख ने लोकप्रिय टीवी सीरियल ‘‘फौजी'' (1988) और ‘‘सर्कस'' (1989) में काम करने के बाद जून, 1992 को निर्देशक राज कंवर की फिल्म ‘‘दीवाना'' से बॉलीवुड में कदम रखा था।

मुंबई. बॉलीवुड में 28 साल पूरे होने पर सुपरस्टार शाहरुख खान ने रविवार को अपने प्रशंसकों का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि अपने चाहने वालों की वजह से ही वह अपने जुनून को पेशे में बदलकर इतने लंबे समय तक फिल्म जगत में टिके रहे। शाहरुख ने इस महीने बॉलीवुड में 28 साल पूरे कर लिये हैं। टेलीविजन से लेकर बड़े पर्दे तक सफलता की बुलंदियों को छूने वाले शाहरुख ने लोकप्रिय टीवी सीरियल ‘‘फौजी” (1988) और ‘‘सर्कस” (1989) में काम करने के बाद जून, 1992 को निर्देशक राज कंवर की फिल्म ‘‘दीवाना” से बॉलीवुड में कदम रखा था।

54 वर्षीय अभिनेता ने कहा कि व्यावसायिकता से कहीं अधिक मनोरंजन के लिए उनका जुनून है जिसकी बदौलत वह फिल्म उद्योग में कई वर्षों से टिके हुए हैं और आगे भी इसी तरह काम करते रहेंगे। शाहरुख ने अपनी एक नई तस्वीर के साथ ट्वीट किया, ‘‘न जाने कब मेरा जुनून मेरा उद्देश्य बन गया और फिर मेरे पेशे में बदल गया। इतने सालों तक मुझे आपका मनोरंजन करने की अनुमति देने के लिए आप सभी का धन्यवाद। मेरा मानना ​​है कि मेरी व्यावसायिकता से कहीं बढ़कर मेरा जुनून है, जो मुझे कई और वर्षों तक आप सब की सेवा करने के लिए प्रेरित करता रहेगा।” बाद के एक ट्वीट में, अभिनेता ने तस्वीर क्लिक करने के लिए अपनी पत्नी, फिल्म निर्माता-इंटीरियर डिजाइनर गौरी खान को धन्यवाद दिया और लिखा ‘‘28 साल… और गिनती जारी है…।”

अभिनेता ने फिल्मों के अपने शुरुआती वर्षों में ‘‘बाजीगर”, ‘‘डर” और ‘‘अंजाम” जैसी फिल्में की, फिर उन्होंने ‘‘राजू बन गया जेंटलमैन” और ‘‘कभी हां कभी ना” जैसी फिल्मों में काम किया। हालांकि, 1995 में आदित्य चोपड़ा के निर्देशन में आयी प्रेम कहानी पर आधारित ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे” से उन्हें स्टारडम मिला और वह हिंदी सिनेमा के सबसे बड़े रोमांटिक हीरो में से एक बन गए। 1995 से 2005 के बीच, शाहरुख ने ‘‘दिल तो पागल है”, ‘‘यस बॉस”, ‘‘कुछ कुछ होता है”, ‘‘मोहब्बतें”, ‘‘कभी खुशी कभी गम”, ‘‘देवदास”, ‘‘कल हो ना”, ‘‘मैं हूं ना”, ‘‘वीर ज़ारा” जैसी सुपरहिट फिल्मों में अपने अभिनय का जादू बिखेरा। ये सभी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर हिट रहीं और शाहरुख को बॉलीवुड का ‘किंग खान’ का टैग मिल गया।

उन्होंने ‘‘स्वदेस”, ‘‘चक दे इंडिया”, और ‘‘माई नेम इज खान” जैसी फिल्मों में भी अभिनय किया, जिनसे उनके अभिनय में विविधता देखने को मिली। इस दशक में उन्होंने ‘‘रा-वन”, ‘‘जब तक है जान”, ‘‘चेन्नई एक्सप्रेस”, ‘‘हैप्पी न्यू ईयर”, ‘‘रईस”, ‘‘फैन” और ‘‘जीरो” जैसी हिट फिल्में दीं। (एजेंसी)