Photo: Twitter
Photo: Twitter

    मुंबई: ‘फ्लाइंग सिख’ के नाम से मशहूर धावक मिल्खा सिंह (Milkha Singh) अब इस संसार से विदा ले चुके हैं. उनके निधन से स्पोर्ट्स ही नहीं बल्कि बॉलीवुड में भी शोक का माहौल है। वहीं फरहान अख्तर (Farhan Akhtar) को तो यकीन ही नहीं हो पा रहा है कि मिल्खा इस दुनिया को छोड़कर चले गए हैं। उनका किरदार पर्दे पर उतारने वाले फरहान ने अपने इस दर्द को सोशल मीडिया पर शेयर किया है। उन्होंने मिल्खा सिंह को श्रद्धांजलि देते हुए दिल छू लेने वाला नोट लिखा है। 

    फरहान ने मिल्खा सिंह के साथ फोटो शेयर कर लिखा, ‘प्रिय मिल्खा जी, मेरा एक हिस्सा अब भी यह मानने से इंकार कर रहा है कि आप नहीं रहे। हो सकता है कि यह जिद्दी पक्ष है जो मुझे आपसे विरासत में मिला है … वह पक्ष जब यह किसी चीज पर अपना दिमाग लगाता है, बस कभी हार नहीं मानता.’ इसके आगे फरहान ने लिखा, ‘और सच्चाई यह है कि आप हमेशा जीवित रहेंगे। क्योंकि आप एक बड़े दिल वाले, प्यार करने वाले, गर्मजोशी से भरे हुए, जमीन से जुड़े इंसान थे। आपने एक विचार का प्रतिनिधित्व किया। आपने एक सपने का प्रतिनिधित्व किया। आपने प्रतिनिधित्व किया (अपने स्वयं के उपयोग के लिए) शब्द) कितनी मेहनत, ईमानदारी और दृढ़ संकल्प किसी व्यक्ति को उसके घुटनों से उठाकर आसमान छू सकता है। आपने हमारे पूरे जीवन को छुआ है। जो लोग आपको एक पिता और एक दोस्त के रूप में जानते हैं, उनके लिए यह एक आशीर्वाद था। उन लोगों के लिए जो प्रेरणा के निरंतर स्रोत और सफलता में विनम्रता की याद दिलाने के रूप में नहीं थे। मैं आपको पूरे दिल से प्यार करता हूं।’

    बता दें कि फरहान और मिल्खा सिंह तक एक-दूसरे के करीब तब आए जब एक्टर ने एथलीट मिल्खा सिंह की बायोपिक में काम किया। मिल्खा सिंह पर बनी फिल्म ‘भाग मिल्खा भाग’ में फरहान ने मिल्खा सिंह का किरदार निभाया था। इस फिल्म के लिए फरहान ने खूब मेहनत की थी और इसी दौरान वह मिल्खा सिंह के करीब आए और उनके बारे में जाना। मिल्खा ने एक इंटरव्यू में फरहान की तारीफ करते हुए कहा था, ‘चाहे मैं कहीं भी हूं, अमेरिका या इंग्लैंड सभी मुझसे मिलकर कहते हैं कि फरहान फिल्म में मेरे डिट्टो कॉपी लगे थे।’ मिल्खा ने आगे कहा था, ‘मैं खुद फरहान की ट्रेनिंग के दौरान उन्हें देखने गया था। मैंने देखा था कि वह 11 सेकेंड में 100 मीटर भागे थे। वह प्रोफेशनल नहीं हैं, लेकिन उन्होंने काफी हार्ड ट्रेनिंग की थी।’