Photo: Instagram
Photo: Instagram

    मुंबई: नागिन 3(Naagin 3) फेम स्टार पर्ल वी पुरी(Pearl V Puri) को मुंबई पुलिस ने नाबालिग से रेप के आरोप में गिरफ्तार किया है। पर्ल को POCSO के तहत गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने बताया कि ये एक पुराना केस है जिसमें एक नाबालिग लड़की ने एक्टर पर टीवी सीरियल में काम दिलाने के नाम पर शोषण का आरोप लगाया है। पर्ल वी पुरी को नाबालिग से रेप के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इस खबर को सुनकर पूरा टीवी इंडस्ट्री शॉक्ड है। फिलहाल पर्ल वी पुरी को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में ले लिया गया है। पर्ल पुरी के ऊपर लगे आरोपों के बाद टेलीविज़न इंडस्ट्री में हड़कंप मच गया है। अली गोनी, राखी सावंत, अनीता हसनंदानी, करिश्मा तन्ना, एकता कपूर (Ekta Kapoor), दिव्या खोसला कुमार समेत कई सितारों ने पर्ल का सपोर्ट किया है और इन आरोपों को झूठा बताया है। 

    अब बच्ची के पिता की तरफ से उनके वकील ने स्टेटमेंट जारी कर अपनी बातें रखी हैं। वकील ने कहा, ‘मैं मिस्टर आशीष ए दुबे 5 साल की बच्ची के पिता का वकील अपने क्लाइंट की तरफ से स्टेंटमेंट जारी कर रहा हूं। 5 साल की बच्ची अपनी मां की कस्टडी में थी और 5 महीने से पिता अपनी बच्ची के साथ कॉन्टैक्ट में नहीं थे। एक दिन जब पिता, बच्ची के स्कूल गए उसकी फीस देने के लिए तो बच्ची भागकर अपने पिता के पास आई। उसने अपने पिता से कहा कि वह बहुत डरी हुई है और उनके साथ जाना है। बच्ची को डरा हुआ देखकर पिता फिर बच्ची को अपने घर लेकर चले गए।’

    उन्होंने आगे कहा, ‘इसके बाद घर में जाकर बच्ची ने अपने पिता को पूरी बात बताई। इसके बाद पिता तुरंत पुलिस स्टेशन गए और नायर अस्पताल में बच्ची का मेडिकल एग्जामिनेशन के बाद कन्फर्म हो गया कि जो भी बच्ची ने बताया वो सच है। बच्ची ने आरोपी का ऑनस्क्रीन नाम रघबीर बताया। पिता टीवी शोज नहीं देखते थे तो वह पहचान नहीं पाए। आगे इन्वेस्टिगेशन के बाद पता चला कि रघबीर का किरदार पर्ल वी पुरी निभाते हैं। जब बच्ची को जब कुछ एक्टर्स की फोटो दिखाई तो उन्होंने मना किया। इसके बाद जब पर्ल की फोटो दिखाई तो लड़की ने पहचान लिया। इसके बाद पुलिस ने बच्ची से पूछताछ की और बच्ची ने फिर अपना स्टेटमेंट दर्ज करवाया। मैं कुछ पॉइन्ट्स क्लीयर करना चाहता हूं अपने क्लाइन्ट की तरफ से-‘

    ‘1. बच्ची अपने पिता के साथ मदद के लिए आई और मेरे क्लाइन्ट ने अपनी बेटी की मदद के लिए पुलिस स्टेशन गए और मेडिकल करवाया। क्या ये गलत है या क्राइम है? 2. मेरे क्लाइन्ट ने कभी किसी का नाम नहीं लिया सिर्फ बच्ची ने पर्ल के नाम का खुलासा किया। 3. मेडिकल के समय बच्ची की मां को भी अस्पताल में बुलाया गया था और वह वहां मौजूद थीं. 5 साल की बच्ची झूठ क्यों बोलेगी?4. बच्ची ने जो बताया वो मेडिकल रिपोर्ट में आ गया तो फालतू का डिस्कशन क्यों कि अपनी शादी के मैटर की वजह से मेरे क्लाइन्ट ने ये किया’

    ‘मेरे क्लाइन्ट एक मिडल क्लास आदमी हैं और वह खुद पर लगे आरोपों को सुनकर परेशान हैं क्योंकि वह बच्ची के लिए अकेले लड़ रहे हैं। अपनी 5 साल की बेटी को इंसाफ दिलाना चाहते हैं। मेरे क्लाइन्ट का हाथ जोड़कर सभी से यही कहना है कि कानून को अपना काम करने दीजिए।’