गम में डूबा पाकिस्तान, पेशावर में दिलीप कुमार के घर पर अदा की गई नमाज

अभिनेता दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर 1922 को पाकिस्तान के पेशावर शहर में हुआ था।

    Pakistan immersed in sorrow, Namaz offered at Dilip Kumar’s house in Peshawar: लंबी बीमारी के बाद बुधवार की सुबह मुंबई के एक अस्पताल में दिग्गज एक्टर दिलीप कुमार का दुखद निधन हुआ। शाम को राजकीय सम्मान के साथ दिलीप साहब का अंतिम संस्कार किया गया। वह पिछले मंगलवार से यहां स्थित हिंदुजा अस्पताल की गैर-कोविड गहन में भर्ती थे। वह 98 वर्ष के थे। दिलीप कुमार के निधन की खबर ने सबकी आंखे नम कर दी। देश में ही बल्कि विदेश में भी शोक मनाया गया। दिलीप कुमार की मौत के बाद के ही समूचा बॉलीवुड और दुनियाभर में उनके फैन्स उन्हें श्रद्धांजलि दे रहे हैं। खबर के अनुसार, दिलीप कुमार के पुश्तैनी घर यानी पाकिस्तान के पेशावर में भी शोक मनाते हुए उन्हें श्रद्धांलि दी गई। 

    मालूम हो कि अभिनेता दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर 1922 को पाकिस्तान के पेशावर शहर में हुआ था। वह हमेशा पाकिस्तान के पेशावर में स्थित घर को और अपने बचपन को याद करते थे। दिलीप कुमार के निधन से गमगीन लोगों ने पेशावर में उनके पुश्तैनी घर पर नमाज पढ़ी। इसके अलावा मोमबत्ती जलाकर लोगों ने नम आंखों से उन्हें याद किया। पेशावर से सामने आया वीडियो और तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं। आप भी देखें- 

     

     

    दिलीप कुमार के पारिवारिक मित्र फैसल फारूकी ने सोशल मीडिया के जरिए अभिनेता के निधन की पुष्टि की थी। फारूकी ने लिखा था ‘भारी मन और बेहद दु:ख के साथ, मैं यह घोषणा कर रहा हूं कि कुछ मिनट पहले हमारे प्यारे दिलीप साहब का निधन हो गया। इसके बाद उनका पार्थिव शरीर अस्पताल से घर ले जाया गया। जहां धर्मेंद्र, शबाना आजमी, शाहरुख खान और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे सहित उनके कई मित्रों, राजनेताओं सहकर्मियों और प्रशंसकों ने श्रद्धांजलि दी।