स्वरा भास्कर के खिलाफ देशद्रोह का परिवाद दर्ज, भड़काऊ भाषण देने का आरोप

कानपुर. हमेशा बेबाकी से अपनी बात रखनी वाली बॉलीवुड की अभिनेत्री स्वरा भास्कर और एक बार सुर्खियों में चल रही है। पिछले कुछ दिनों से स्वरा केंद्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून (CAA), नेशनल रजिस्टर ऑफ

कानपुर. हमेशा बेबाकी से अपनी बात रखनी वाली बॉलीवुड की अभिनेत्री स्वरा भास्कर और एक बार सुर्खियों में चल रही है। पिछले कुछ दिनों से स्वरा केंद्र सरकार के नागरिकता संशोधन कानून (CAA), नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिज़न्स (NPR) और नैशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन बिल (NRC) के खिलाफ भाषण दे रही है। जिससे अब स्वरा के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने के लिए परिवाद दायर किया गया है। इस वजह से अब स्वरा की मिश्किलें बढ़ सकती है।

उत्तर प्रदेश के कानपुर के सीएमएम-7 कोर्ट में स्वरा भास्कर के खिलाफ वरिष्ठ अधिवक्ता विजय बक्शी ने IPC की धारा 124 ए, 153 ए, 153 बी और 505 (2) के तहत देशद्रोह का मामला दर्ज करने परिवाद दायर किया है।

विजय बक्शी ने बताया कि, "स्वरा भास्कर अपने भाषणों से भारत सरकार को अस्थिर करने का प्रयास कर रही है। दो समाजों के बीच मतभेद निर्माण करने के लिए भड़कावू भाषण दे रही है। जिससे दो समाज में तनाव पैदा हो रहा है।"

बक्शी ने कहा, "इस सन्दर्भ में मैंने स्वरा भासकर का एक वीडियो देखा था, जिससे दिल्ली में दंगे की परिस्थिति निर्माण हुई। इस दंगे में हेड कांस्टेबल रतन लाल और आईबी के जवान अंकित शर्मा की हत्या की गई थी। इस वजह से मैंने यह याचिका दायर की।"

इस मामले 20 मार्च को कोर्ट में सुनवाई है।

बता दें कि स्वरा सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती है। इसके अलावा वह हमेशा अपनी बात बेबाकी से रखती है। स्वरा ने CAA के दिल्ली के शाहीनबाग सहित अन्य हिस्सों में हुए विरोध प्रदर्शन में भाग लिया था। हालही में स्वरा का एक भाषण सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें वह अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर भी टिप्पणी कर रही थी।