Photo: Instagram
Photo: Instagram

    मुंबई: फिल्में तो हर कोई बनाता है लेकिन उस पर छाप कम ही लोग छोड़ पाते हैं। बॉलीवुड के निर्माता यश जौहर (Yash Johar) की छवि कुछ ऐसे ही थी। उनके द्वारा निर्मित की गई हर फिल्म आज भी दर्शकों को याद आती है। यश जौहर की फिल्मों में सेट और लोकेशन का बहुत ही ज्यादा महत्व रहा है। इस चीज को उनके बेटे करण जौहर ने भी अपनाया है। आज यानी 26 जून को यश जौहर की पुण्यतिथि है। यश जौहर आज ही के दिन 17 साल पहले दुनिया से रुखसत हो गए थे। यश जौहर तो चले गए, लेकिन अपने पीछे छोड़ गए अपनी सुपरहिट फिल्में और उनके गीत व संगीत, जिन्हें दर्शक आज भी खूब पसंद करते हैं। 

    यश जौहर ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत 1952 में सुनील दत्त के प्रोडक्शन हाउस से की। फिल्म ‘मुझे जाने दो’ और ‘ये रास्ते हैं प्यार के’ में उन्होंने एक सहयोगी के तौर पर काम किया। उन्होंने देवानंद की कई फिल्मों में उनके प्रोडक्शन के काम को भी संभाला था। 1976 में यश जौहर ने ‘धर्मा प्रोडक्शन’ नाम से अपना प्रोडक्शन हाउस खोला। निर्माता के तौर पर उनकी पहली फिल्म दोस्ताना थी। दोस्ताना राज खोसला द्वारा निर्देशित हिंदी फिल्म है। फिल्म के मुख्य कलाकार अमिताभ बच्चन, जीनत अमान, शत्रुघ्न सिन्हा थे। फिल्म में संगीत लक्ष्मीकांत प्यारेलाल जी ने दिया था। उनकी अन्य सफल फिल्मों में अग्निपथ, गुमराह, डुप्लिकेट है। 

    आज यश जौहर की पुण्यतिथि के मौके पर उनकी माली हालत से जुड़ा एक किस्सा आपके लिए अपनी किस्सों की डायरी से निकालकर लाए हैं। यह किस्सा यश जौहर और दिग्गज अभिनेता प्राण (Pran) से जुड़ा है, जिसमें आपको बताएंगे कि आखिर यश जौहर को प्राण का पैसा लौटाने में 11 साल का लंबा वक्त क्यों लगा और इस में बेटे करण जौहर (Karan Johar) की क्या भागीदारी रही। 

    आपको बता दें यह बात है साल 1986 की, जब यश जौहर फिल्म ‘मुकद्दर का फैसला’ (Mukaddar Ka Faisla) का निर्माण कर रहे थे। यह फिल्म 1987 में रिलीज हुई थी। फिल्म में राज बब्बर, राज कुमार, राखी, प्राण, मीनाक्षी शेषाद्री और टीना मुनीम जैसे कई बड़े कलाकार थे। अन्नू कपूर ने अपने एक शो में बताया था कि यश जौहर ने प्राण के लिए फिल्म में एक बहुत ही अहम किरदार रखा था। पर दुविधा ये थी कि उस समय यश जौहर के पास प्राण को फिल्म की फीस देने के पैसे नहीं थे। उस दौरान प्राण साहब करीब 15 से 20 लाख रुपये एक फिल्म की फीस लिया करते थे। 

    यश जौहर को समझ नहीं आ रहा था कि वह प्राण को फिल्म में बिना फीस के कास्ट करें तो कैसे। अब एक दिन यश जौहर ने हिम्मत बांधी और सीधा जा पहुंचे प्राण साहब के पास। यश जौहर ने प्राण के सामने फिल्म का प्रस्ताव रखा, लेकिन साथ ही अपने हालात भी साझा कर दिए। अब देखिए प्राण की दरियादिली कि वह यश जौहर के हालातों को समझ गए और उन्होंने झट से फिल्म में काम करने के लिए हां कर दिया। प्राण ने फिल्म के लिए हामी भरते हुए यश जौहर से कहा- आप अपनी फिल्म की शूटिंग शुरू करें। मैं अपकी फिल्म में काम करने के लिए तैयार हूं। आप मेरी फीस तब दे देना, जब आपके पास पैसे हों। 

    अब फिल्म बन तो गई, लेकिन यह बॉक्स ऑफिस पर चल नहीं पाई। फिल्म ने इतना कारोबार नहीं किया कि यश जौहर सारे खर्चे निकालकर प्राण को उनकी फीस दे पाएं। हालात वैसे के वैसे ही रहे। अब यश जौहर ने अपनी अगली फिल्म का निर्माण शुरू किया। इस फिल्म का नाम था- ‘अग्निपथ’। पिछली फिल्म की तरह इस फिल्म में भी अमिताभ बच्चन, मिथुन चक्रवर्ती और डैनी जैसे बड़े कलाकार थे, लेकिन यह फिल्म भी फ्लॉप हो गई। अब यश जौहर के हालात सुधरने का नाम नहीं ले रहे थे। 

    1993 में यश जौहर ने बड़ी उम्मीद के साथ एक और फिल्म का निर्माण किया, जिसका नाम था- ‘गुमराह’। फिल्म में अनुपम खेर, संजय दत्त, राहुल रॉय और श्रीदेवी जैसे हिट कलाकार थे। उस दौर में निर्देशन में महेश भट्ट का खूब नाम था।यश जौहर को लगा कि महेश भट्ट के निर्देशन से फिल्म चल पड़ेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ और ये फिल्म भी पिट गई।हालांकि, अपने कर्जे चुकाने की यश जौहर को इतनी ललक थी कि उन्होंने फिल्मों का निर्माण करना नहीं छोड़ा।

    पांच साल बाद यानी 1998 में यश जौहर ने फिल्म ‘डुप्लीकेट’ बनाई. इस फिल्म में उस समय के सुपरहिट कलाकार शाहरुख खान, जूही चावला और सोनाली बेंद्रे को कास्ट किया गया। इस फिल्म का निर्माण भी महेश भट्ट ने किया था. हालांकि, इस फिल्म का नतीजा भी वही निकला, जो पिछली तीन फिल्मों का निकला था, यानी यह फिल्म भी बॉक्स ऑफिस पर कामयाबी हासिल नहीं कर पाई।

    इसी साल यश जौहर ने एक फिल्म का और निर्माण किया. यह फिल्म थी- ‘कुछ कुछ होता है’. फिल्म के निर्देशन का जिम्मा इस बार यश जौहर ने अपने बेटे करण जौहर को सौंपा. फिल्म में शाहरुख खान, काजोल और रानी मुखर्जी अहम भूमिका में थे. जो कमाल यश जौहर की पिछली चार फिल्में नहीं करके दिखा पाईं, वह बेटे करण के निर्देशन में बनी फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ ने कर डाला. यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर सुपर डुपर हिट साबित हुई. फिल्म की कहानी से लेकर इसके गाने तक लोगों को इतने पसंद आए कि आज भी वे इन्हें गुनगुनाते हैं।

    करण जौहर की बदौलत फिल्म ने इतनी कमाई की कि यश जौहर का प्रत्येक कर्जा चुकता हो गया. अब यश जौहर की माली हालत ठीक हो गई थी. इस फिल्म की कामयाबी के तुरंत बाद यश जौहर, प्राण के पास पहुंचे. उन्होंने प्राण की 11 साल पुरानी पूरी रकम चुकता कर दी. साथ ही उन्होंने इतने सालों की देरी के लिए प्राण से तहे दिल से माफी भी मांगी. सबसे अच्छी बात तो ये रही कि इन 11 सालों में प्राण ने एक बार भी अपनी रकम के लिए यश जौहर से तगादा नहीं किया था. यह उनकी महानता ही थी कि वह यश जौहर की जुबान की अहमियत बखूबी समझते थे।