‘सत्यमेव जयते 2’ रिलीज से पहले अभिनेता जॉन अब्राहम ने यूएफओ वुल्फ एयर मास्क लॉन्च किया

    Actor John Abraham launches UFO Wolf air mask ahead of ‘Satyamev Jayate 2’ release: भारतीय फिल्म प्रदर्शनी उद्योग में अग्रणी, पीवीआर लिमिटेड ने यूफो मूवीज़ के साथ साझेदारी कर सिनेमा-विशिष्ट एयर स्टरेलाईज़ेशन डिवाईस, ‘यूफो वोल्फ एयर मास्क’ के इंस्टॉलेशन की घोषणा की है। यहां पर आगंतुकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए यह रियल-टाईम एयर स्टरेलाईज़ेशन प्रदान करेगा, जिससे हवा और सतह पर रहने वाले सभी तरह के नुकसानदायक बैक्टीरिया, वायरस एवं माईक्रोब्स से सुरक्षा मिलेगी। इसे सिनेमा हॉल्स के लिए खास डिज़ाईन किए गए आईसीएमआर से मान्यताप्राप्त और आईएलएसी से संबद्ध लैब (अंतर्राष्ट्रीय), राजीव गांधी सेंटर फॉर बायोटेक्नॉलॉजी में सार्स कोविड-2 वायरस पर सफलतापूर्वक जाँचा गया है। इस उत्पाद को अपनी आगामी मूवी ‘सत्यमेव जयते 2’ का प्रमोशन कर रहे, अभिनेता-निर्माता, श्री जॉन अब्राहम की मौजूदगी में पीवीआर जुहू, मुंबई में लॉन्च किया गया।

    विभिन्न राज्यों ने क्षमता पर एवं लगाए गए अन्य प्रतिबंधों को हटा लिया है, क्योंकि यह बीमारी अब देश में आगे भी हमारे साथ-साथ चलती रहेगी। दर्शक बड़े पर्दे पर मूवी देखने का अनुभव फिर से प्राप्त करने लगे हैं और अब पाईपलाईन में बेहतरीन फिल्में दिखाई जाने के लिए तैयार हैं। देश में अपने थिएटर्स में इन यूनिटों की स्थापना करने वाला पीवीआर सिनेमाज़ भारत का पहला मल्टीप्लेक्स बन गया है। सरकार द्वारा निर्धारित मानक प्रोटोकॉल एवं 100फीसदी स्टाफ के वैक्सीनेटेड होने के बाद इन यूनिटों की स्थापना के साथ लोगों का सिनेमा देखने का अनुभव और ज्यादा सुरक्षित बन जाएगा। 

    पीवीआर केयर्स प्रोग्राम की संपूर्ण श्रृंखला में टेक्नॉलॉजी का अपनाया जाना एक अतिरिक्त उपाय है, जो कोविड-19 के बाद की दुनिया में सुरक्षा उपायों और विधियों को और ज्यादा मजबूत करता है, तथा कर्मचारियों एवं सिनेमाप्रेमियों का स्वास्थ्य व सेहत सुनिश्चित करता है। सिनेमा प्रदर्शन उद्योग कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले सेक्टर्स में से एक है और इस अप्रत्याशित संकट के बीच कंपनी का उद्देश्य जिम्मेदारीपूर्वक अपने व्यवसायिक कार्य जारी रखते हुए अपने कर्मचारियों, ग्राहकों व समुदाय की सेहत एवं स्वास्थ्य की सुरक्षा सुनिश्चित करना है। श्रेणी में अग्रणी होने के नाते, पीवीआर ने दर्शकों एवं स्टाफ, दोनों के लिए सिनेमा को हर मामले में सुरक्षित करने के लिए सरकार द्वारा निर्धारित मानकों के आगे भी कदम बढ़ाए हैं। पीवीआर केयर में बॉक्स ऑफिस, सिक्योरिटी, लॉबी, ऑडी, कंसेशन, रेस्ट रूम एवं एक्ज़िट तक संपर्क के हर बिंदु पर ग्राहकों के लिए सुरक्षा व हाईज़ीन सुनिश्चित किए गए हैं। सिनेमा को सुरक्षित बनाने में प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल किया गया है। ज्यादा संपर्क में आने वाली सतहों पर एंटी-माईक्रोबियल कोटिंग लगाई गई है, खाने की पैकेजिंग को स्टरेलाईज़ करने के लिए यूवी कैबिनेट्स का इस्तेमाल किया जाता है, एनएफसी, ई-वॉलेट द्वारा डिजिटल विनिमय किए जाते हैं और क्यूआर कोड एंट्री द्वारा पेपरलेस मूवी टिकट खरीदे जाते हैं। अपने सिनेमा दोबारा खोले जाने से पहले पीवीआर ने न केवल अपने सभी कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाई, बल्कि इसने फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉई (एफडब्लूआईसीई) के साथ पंजीकृत वंचित वर्ग के दैनिक कर्मियों, जैसे स्पॉट ब्वॉय, लाईट-मेन आदि के लिए अपने सिनेमा में निशुल्क वैक्सीनेशन प्रदान करके फिल्म समुदाय के लिए फरिश्ते का काम भी किया।

    इस अभियान के बारे में श्री गौतम दत्ता, सीईओ, पीवीआर लिमिटेड ने कहा, ‘‘एक जिम्मेदार संगठन के रूप में हम अपने दर्शकों व कर्मचारियों की सेहत व सुरक्षा के लिए सभी प्रोटोकॉल्स का कठोरता से पालन कर रहे हैं। हमें अपने नए प्रौद्योगिकीय अभियानों के तहत अपने थिएटर्स में यूएफओ-वोल्फ एयरमास्क स्थापित करने के लिए यूएफओ मूवीज़ के साथ अपनी एक्सक्लुसिव साझेदारी की घोषणा करते हुए खुशी हो रही है। इस डिवाईस को संचालित करने वाली क्रांतिकारी प्रौद्योगिकी सुरक्षा और आराम को सर्वाधिक महत्व देने के हमारे सिद्धांत का प्रमाण है। इस अभियान द्वारा, हमें विश्वास है कि हम अपने प्रशंसकों को एक सुरक्षित वातावरण प्रदान कर सकेंगे, ताकि सिनेमा में वो अपनी पसंदीदा मूवीज़ का बेफिक्र होकर आनंद ले सकें।’’

    यूएफओ-वोल्फ एयरमास्क में अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी है, जो बंद स्थानों पर हवा में बहने वाले वायरस को दूर करती है। इसमें नॉन-केमिकल नैगेटिव आयन का निर्माण 360 डिग्री और 24/7 सुरक्षा देकर स्वास्थ्य व सेहत बढ़ाता है। नॉन-केमिकल नैगेटिव आयन का निर्माण पहाड़ों, झरनों और समुद्री तटों पर हुआ करता है। यह उत्पाद प्रति सेकंड 100 ट्रिलियन नैगेटिव आयन प्रति क्यूबिक सेंटीमीटर डिस्चार्ज करता है, जो कोरोनावायरस के सरफेस प्रोटीन/स्पाईक प्रोटीन तथा हवा में मौजूद अन्य नुकसानदायक वायरस एवं माईक्रोब्स से चिपक कर उन्हें न्यूट्रलाईज़ कर देता है। साथ ही, यह 15 मिनट में 99 प्रतिशत सार्स कोविड-2 वायरस को न्यूट्रलाईज़ कर सकता है। इनडोर हवा का हाथों-हाथ स्टरेलाईज़ेशन नॉन-टॉक्सिक एवं नॉन-एलर्जिक माईक्रोबियल न्यूट्रलाईज़ेशन प्रदान करता है, जिससे बंद स्थानों में सबसे शुद्ध हवा मिलती है। इसका इस्तेमाल शो के दौरान किया जा सकता है, जिससे ज्यादा तीव्र टर्नअराउंड टाईम मिले। बड़े सिनेमा हॉल्स में यह सैनिटाईज़ेशन के लिए एक बेहतरीन दीर्घकालिक समाधान है। यूएफओ-वोल्फ एयरमास्क एनर्जी एफिशियंट है, चुपचाप काम करते हैं और ये बायोहैज़ार्ड उत्पन्न नहीं करते। इस उत्पाद को विभिन्न संस्थानों द्वारा जाँचा व प्रमाणित किया गया है कि यह सार्स कोविड-2 वायरस के आवरण एवं स्पाईक प्रोटीन को तोड़ने के लिए प्रभावशाली है। इन संस्थानों में दुबई सेंट्रल लैब, एसजीएस कैमिकल सॉल्यूशंस लैबोरेटरीज़, एनवायरोडिज़ाईंस ईको लैब्स शामिल हैं। साथ ही यूरोपियन संसद का सीई एवं आरओएचएस डायरेक्टिव इस बात की पुष्टि करता है कि यह उत्पाद यूरोपियन स्वास्थ्य, सुरक्षा एवं पर्यावरण की सुरक्षा के मानकों के अनुरूप है।

    इस साझेदारी के बारे में, श्री कपिल अग्रवाल, ज्वाईंट मैनेजिंग डायरेक्टर, यूएफओ मूवीज़ इंडिया लिमिटेड ने कहा, ‘‘पीवीआर के साथ हमारा गठबंधन एक दशक से ज्यादा पुराना है, जब हमने उनकी स्क्रीन को डिजिटल प्रोजेक्शन में बदलने के लिए उनके साथ साझेदारी की थी। हमें भारत में सिनेमा की अग्रणी चेन, पीवीआर के साथ पूरे देश के सिनेमा में एक क्रांतिकारी प्रौद्योगिकी, यूएफओ-वोल्फ एयर मास्क प्रस्तुत करने की खुशी है। कोविड महामारी के कारण मूवी देखने रुकावट उत्पन्न हुई और अपने दर्शकों का विश्वास दोबारा हासिल करना सिनेमा थिएटर्स के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन गई। फ्यूमिगेशन और सैनिटाईज़ेशन जैसे सुरक्षा प्रोटोकॉल्स इन सार्वजनिक स्थानों को स्टरेलाईज़ करने के लिए पर्याप्त नहीं। अब इन स्थानों में बहने वाली हवा को स्टरेलाईज़ करने की जरूरत है। एक सुरक्षित व सेहतमंद वातावरण दर्शकों को बिना किसी डर के मूवी देखने में मदद करेगा। इस उत्पाद की प्रभावशीलता की जाँच की जा चुकी है और इसे प्रतिष्ठित सरकारी लैब्स द्वारा प्रमाणित किया जा चुका है।’’

    यूएफओ मूवीज़ भारत में थिएटर्स को अपना उत्पाद वितरित करने के लिए केवल कोच्चि में स्थित प्रौद्योगिकी का विकास करने वाली फर्म, ऑलअबाउट इनोवेशंस प्राइवेट लिमिटेड से जुड़ी है। मेक-इन-इंडिया अभियान के तहत, यूएफओ-वोल्फ एयरमास्क का डिज़ाईन व निर्माण भारत में किया गया है और इन यूनिट्स की स्थापना पीवीआर की सभी स्क्रीन्स और आगामी प्रॉपर्टीज़ में पूरे देश में की जाएगी।

    उत्पाद का विवरण देते हुए, श्री सुजेश सुगुनन, चेयरमैन एवं सीईओ, ऑलअबाउट इनोवेशंस प्राइवेट लिमिटेड ने कहा, ‘‘वोल्फ एयरमास्क थिएटर में लगाए जाने के बाद सुनिश्चित करेगा कि थिएटर के अंदर की हवा वायरस, बैक्टीरिया, धूल और बदबू को बिना समय गंवाए न्यूट्रलाईज़ कर दे। यह नॉन-टॉक्सिक एवं नॉन-एलर्जिक माईक्रोबियल न्यूट्रलाईज़र हर उम्र के व्यक्ति को अत्यधिक सुरक्षित वातावरण प्रदान करता है। यह उत्पाद सुनिश्चित करता है कि बंद स्थानों पर भी सबसे शुद्ध हवा मिले, जो एयर कंडीशनिंग के साथ और ज्यादा अच्छी हो जाए। भारत के पहले आयन पर आधारित कोविड समाधान के साथ अपने आस-पास के वातावरण की सुरक्षा करने के लिए यह एक उत्तम समाधान है।’ (PR)