Anil-Kapoor-and-Anurag-Kashyap-come-together-for-the-film-"AK-Verses-AK"-forgetting-the-past

''देव डी'', ''गैंग्स ऑफ वासेपुर'' जैसी फिल्मों और नेटफ्लिक्स श्रृंखला ''सेक्रेड गेम्स'' के जरिए मशहूर होने से पहले अनुराग कश्यप दो फिल्में ''ऑलविन कालीचरण'' और ''ग्रांट होटल'' अनिल कपूर के साथ बनाना चाहते थे।

नयी दिल्ली. मशहूर बॉलीवुड अभिनेता अनिल कपूर (Anil Kapoor) और फिल्मकार अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) का कहना है कि नेटफ्लिक्स (Netflix) फिल्म ”एके वर्सेज एके” (AK Vs AK) के वास्ते उन्होंने अपनी अधूरी परियोजनाओं से उपजे तनाव को पीछे छोड़ दिया है।

”देव डी”, ”गैंग्स ऑफ वासेपुर” जैसी फिल्मों और नेटफ्लिक्स श्रृंखला ”सेक्रेड गेम्स” के जरिए मशहूर होने से पहले अनुराग कश्यप दो फिल्में ”ऑलविन कालीचरण” और ”ग्रांट होटल” अनिल कपूर के साथ बनाना चाहते थे। दोनों ही फिल्में विभिन्न कारणों से नहीं बन सकीं लेकिन इनके चलते कश्यप और कपूर के बीच के संबंधों में थोड़ा तनाव आ गया था क्योंकि कश्यप स्वीकार करते हैं कि इन फिल्मों के नहीं बन पाने के लिए वह कपूर को ही जिम्मेदार मानते थे।

कश्यप ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ‘पीटीआई-भाषा’ को दिए साक्षात्कार में कहा, ” जब आप यह नहीं समझ पाते कि इंडस्ट्री में और पर्दे के पीछे क्या हुआ तो गलतफहमियों को दूर होने में समय लगता है। मैं करीब दो-तीन साल इसके बारे में सोचता रहा और मैं उन्हें जिम्मेदार ठहराउंगा कि उनके कारण मेरी फिल्म नहीं बन सकी।”

कश्यप (48) ने कहा, ”मेरे विचारों में उस वक्त बदलाव आया जब मैं खुद फिल्म निर्माता बना और मुझे अहसास हुआ कि किसी परियोजना को हरी झंडी देना इतना भी आसान नहीं होता।”

”लंच बॉक्स”, ”उड़ता पंजाब” और ”शाहिद” जैसी फिल्में बना चुके कश्यप ने कहा, ” शुरुआत में मुझे लगता था कि मेरे पास एक बढ़िया विचार है और यह बेहद जबरदस्त है इसलिए किसी को इस पर फिल्म जरूर बनानी चाहिए, लोगों को इस पर भरोसा करना चाहिए। हालांकि, ऐसा नहीं होता है। कई सारे ऐसे कारक होते हैं जिन पर विचार करना होता है।”

वहीं, अनिल कपूर ने कहा कि उन्हें हमेशा से कश्यप की काबिलियत पर पूरा भरोसा था इसलिए उन्होंने बतौर निर्देशक उनका चयन किया। कपूर (63) ने कहा, ” मुझे कश्यप के बारे में उस समय पता चला जब वह अपनी पहली फिल्म शुरू करने जा रहे थे (‘पांच’, जो रिलीज नहीं हुई)। मैंने उनकी फिल्म का एक हिस्सा देखा और मुझे उनका काम बेहद पसंद आया। मुझे लगता है कि कहीं यह गलत संदेश गया कि कश्यप ने मुझे अपनी फिल्म बनाने के लिए कहा जो सत्य नहीं है। मैंने उन्हें एक फिल्म बनाने को कहा।”

कपूर ने कहा, ” मैं समझ सकता हूं कि फिल्म पर काम नहीं कर पाने से कश्यप को कैसा महसूस हुआ होगा क्योंकि मैं खुद अपने करियर के शुरुआती दिनों में इन चीजों से गुजर चुका था।”