Jayaprada
जयाप्रदा (डिजाइन फोटो)

Loading

नई दिल्ली : देश की जानी-मानी फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा (Jayaprada) को आचार संहिता उल्लंघन (code of conduct violation) के दो मामलों में कोर्ट (Court) में पेश न होने पर अदालत में सख्त रूप तैयार करते हुए उनके खिलाफ सीआरपीसी की धारा 82 की कार्यवाही कर दी है और उन्हें फरार घोषित करते हुए गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश करने का आदेश दे दिया है। अब इस मामले में 6 मार्च को सुनवाई होनी है। अब रामपुर पुलिस के सामने एक कठिन चुनौती है कि वह कैसे 6 मार्च के पहले जयाप्रदा का पता लगा पाएगी।

वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी अमरनाथ तिवारी ने बताया कि जयप्रदा के विरुद्ध 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान आचार संहिता के उल्लंघन से जुड़े दो मुकदमे कैमरी और स्वार थानों में दर्ज किये गये थे। इसी मामले में न्यायाधीश शोभित बंसल ने कड़ा रुख अपनाते हुए जयाप्रदा को फरार घोषित कर दिया है। अदालत ने रामपुर के पुलिस अधीक्षक को आदेश भी दिया कि वह किसी पुलिस क्षेत्राधिकारी की अगुवाई में एक टीम गठित करके जयाप्रदा को गिरफ्तार कर सुनवाई की अगली तारीख पर अदालत में पेश करें। 

आपको बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी रहीं जयाप्रदा पर चुनाव के दौरान आचार संहिता उल्लंघन के दो मामले रामपुर में दर्ज किए गए थे, जिसकी सुनवाई रामपुर की एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट में चल रही है। 

जानकारी में बताया जा रहा है कि फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा पिछली कई तारीखों पर कोर्ट में हाजिर नहीं हुयीं। बार-बार कोर्ट से उनको पेश करने के लिए सम्मन जारी किया जाता रहा। इसके बावजूद वह हाजिर नहीं हो पायीं। उनके खिलाफ जब गैर जमानती वारंट जारी हुआ तो भी वह कोर्ट में नहीं पेश हो सकीं। कोर्ट से जयाप्रदा के खिलाफ सात बार गैर जमानती वारंट जारी किए हैं और रामपुर के पुलिस अधीक्षक को बार-बार पत्र लिखकर जयाप्रदा को पेश करने का आदेश दिया गया, लेकिन वह पेश नहीं कर पाए।

रामपुर पुलिस की टीम उनके दिल्ली, मुंबई व हैदराबाद के ज्ञात आवासों पर जाकर छानबीन करके लौट आयी है। पुलिस को वहां जयाप्रदा नहीं मिलीं। इसलिए पुलिस ने कोर्ट को जानकारी देकर अपनी मजबूरी बता दी।  

Jayaprada
जयाप्रदा (डिजाइन फोटो)

अब कोर्ट मंगलवार को एमपी-एमएलए स्पेशल कोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए पूर्व सांसद और फिल्म अभिनेत्री जयाप्रदा को फरार घोषित कर दिया है और उनके विरुद्ध 82 की कार्यवाही करते हुए पुलिस अधीक्षक को एक डिप्टी एसपी की अगुवाई में टीम बनाकर 6 मार्च 2024 को अदालत में पेश करने के लिए निर्देशित किया है।

मामले में वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी अमरनाथ तिवारी ने मीडिया को जानकारी देते हुए बताया कि एमपी एमएलए कोर्ट रामपुर में जयाप्रदा के विरुद्ध चुनाव आचार संहिता उल्लंघन के मामले में कार्रवाई चल रही है। गैर जमानती वारंटी जारी होने के बाद भी वह पेश नहीं हो रही हैं। थाने से जो भी रिपोर्ट आई है, उसमें यह बताया गया है कि जयाप्रदा अपने आप को बचा रही हैं और उनके मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ चल रहे हैं। जिससे वह कहां हैं यह पता नहीं चल पा रहा है।