गायिका लता मंगेशकर का इलाज कर रहे डॉक्टर का खुलासा, बोले- ’10-12 दिन तक रहेंगी ICU में…’

    मुंबई: कोरोना वायरस से संक्रमित गायिका लता मंगेशकर तीन दिन बाद भी अस्पताल के गहन चिकित्सा इकाई (आईसीयू) में चिकित्सकों की निगरानी में हैं। गायिका का इलाज कर रहे एक चिकित्सक ने यह जानकारी दी। भारत रत्न से सम्मानित मंगेशकर (92) के वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद उन्हें दक्षिण मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनमें संक्रमण के मामूली लक्षण ही थे। अस्पताल के चिकित्सक प्रतीत समदानी ने ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘‘ वह अब भी आईसीयू में चिकित्सकों की निगरानी में हैं।’’

    मंगेशकर की रिश्तेदार रचना शाह ने मंगलवार को ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया था कि उन्हें लगातार देखभाल की जरूरत थी, इसलिए उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। रचना शाह ने कहा, ‘‘ उनमें कोविड-19 के हल्के लक्षण हैं। उनकी उम्र को ध्यान में रखते हुए, चिकित्सकों ने सलाह दी है कि उन्हें निरंतर देखभाल की जरूरत है और इसलिए उन्हें ‘आईसीयू’ में भर्ती कराया जाना चाहिए। हम कोई जोखिम नहीं उठाना चाहते थे। परिवार के तौर पर, हम सर्वश्रेष्ठ देखभाल चाहते हैं और सुनिश्चित करना चाहते हैं कि उनकी हर वक्त देखभाल हो।’’

    उन्होंने कहा, ‘‘वह ठीक हो जाएंगी, लेकिन उनकी उम्र के कारण कुछ समय लग सकता है। कोविड-19 से पूरी तरह उबरने में सात दिन लग ही जाते हैं।’’ मंगेशकर को नवंबर 2019 में सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के बाद इसी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, तब उन्हें निमोनिया हुआ था। 28 दिनों के बाद उन्हें छुट्टी दे दी गई थी। मंगेशकर ने अपने करियर की शुरुआत 1942 में 13 साल की उम्र में की थी और सात दशक से अधिक के करियर में उन्होंने कई भारतीय भाषाओं में 30,000 से अधिक गाने गाए हैं।

    मंगेशकर को 2001 में भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था। उन्हें पद्म भूषण, पद्म विभूषण, दादा साहेब फाल्के पुरस्कार और कई ‘राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार’ सहित कई पुरस्कारों से नवाजा गया है।