Happy Birthday Kailash Kher
Photo - Instagram

    मुंबई : कैलाश खेर (Kailash Kher) का जन्म 7 जुलाई 1973 को एक कश्मीरी परिवार (Kashmiri Family) में मेरठ (Meerut), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में हुआ था। आज इनका 49वां जन्मदिन है। यह एक भारतीय प्लेबैक सिंगर और संगीतकार हैं, इसके साथ ही कैलाश खेर  भारतीय लोक संगीत और सूफी संगीत से प्रभावित संगीत शैली के साथ गीत गाते हैं। कैलाश खेर ने अपने कड़ी मेहनत से संगीत की दुनिया में अपना एक अलग पहचान बना चुके हैं। कैलाश खेर को बचपन से ही गाने का बहुत शौक था, वह अपने महज 12 साल की आयु में ही शास्त्रीय संगीत की शिक्षा लेना शुरू कर दिया था।

    पाकिस्तानी सूफी गायक नुसरत फ़तेह अली खान से कैलाश खेर को संगीत में अपना करियर बनाने के लिए प्रेरणा मिली। कैलाश खेर अबतक 18 भाषाओं में गाने गा चुके हैं। वो 300 से अधिक गाने बॉलीवुड में गा चुके हैं। कैलाश खेर अब तक दर्जनों अवॉर्ड से भी सम्मानित किये जा चुके हैं। कैलाश खेर साल 2017 में भारत सरकार द्वारा पद्म श्री पुरस्कार से भी सम्मानित किए गए है। कैलाश खेर साल 2009 में मुंबई में शीतल खेर से शादी किए थे। जिससे उनको एक बेटा है। जिसका नाम कबीर खेर हैं।

     
     
     
     
     
    View this post on Instagram
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     

    A post shared by Kailash Kher (@kailashkher)

    कैलाश खेर ने अपने संगीत करियर की शुरुआत बॉलीवुड फिल्म ‘अंदाज’ के ‘रब्बा इश्क ना होवे’ गाने से किया था।उनका ये गाना लोगों को बहुत पसंद आया था। बाद में उनके द्वारा गाये गीत ‘अल्लाह के बंदे’ से वो लोकप्रिय सिंगर बन गए। उसके बाद उनका एल्बम ‘तेरी दीवानी’ है। फिल्म ‘सलाम-ए-इश्क: ए ट्रिब्यूट टू लव’ के गीत ‘या रब्बा’ की रिकॉर्ड खूब बिकी थी। बाद में कैलाश खेर फिल्म ‘बाहुबली 2: द कन्क्लूजन’ में ‘जय जय कारा’ और ‘जल रही है चिता’ गाने को गाये। कैलाश खेर गजल, सूफी, कव्वाली, लोकगीत और भक्ति गीत में भी महारथ हासिल कर चुके हैं।

     
     
     
     
     
    View this post on Instagram
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     
     

    A post shared by Kailash Kher (@kailashkher)

    कैलाश खेर साल 2014 तक भोजपुरी, गुजराती, तेलुगू, तमिल, मराठी, राजस्थानी, मलयालम, कन्नड़, कोंकणी, सिंधी, पंजाबी, उड़िया और बंगाली 20 से अधिक भारतीय भाषाओं में और भारतीय फिल्मों के लिए 500 से भी अधिक गानों को अपनी आवाज दिए थे। कैलाश खेर कन्नड़ फिल्मों में भी काम कर चुके हैं। वो कन्नड़ की सफल फिल्में ‘हेले पात्रे’ और ‘एक राजा रानी’ में भी अपनी आवाज दे चुके हैं। कैलाश खेर टेलीविजन के स्टार प्लस के धारावाहिक शो ‘दीया और बाती हम’ का टाइटल ट्रैक कंपोज किया है और उसे गाया भी है। वो कलर्स के धारावाहिक ‘उड़ान’ के शीर्षक ट्रैक को भी गा चुके है। वो भारत की सफाई के लिए राष्ट्रीय अभियान, स्वच्छ भारत अभियान के लिए गया चुके हैं।