‘भीख में आजादी’ पर कंगना रनौत को संजय राउत की खरी-खरी, बोले- ‘स्वतंत्रता का अपमान देश कभी बर्दाश्त नहीं करेगा…’

    Sanjay Raut said on Kangana Ranaut’s statement, Said- ‘The country will never tolerate insult to freedom…’: बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत एक बार फिर चर्चा के विषय बनी हुई हैं। ‘भारत को 1947 में आजादी नहीं मिली, बल्कि वह भीख थी। भारत देश को सच्ची आजादी साल 2014 में मिली थी, ‘ कंगना के इस बयान के बाद खलबली मच गई थी। अभिनेत्री के इस विवादित बयान के बाद पूरे देशभर में उनकी आलोचना हो रही है। इसी बीच कंगना के इस बयान पर शिवसेना सांसद संजय राउत ने भी नाराजगी जताई है। 

    संजय राउत ने कहा ‘75 वर्षों तक देश के स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने वाले स्वतंत्रता सेनानियों को भारत रत्न, पद्म श्री और पद्म भूषण पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। यह स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान है कि कंगना को वही सम्मान दिया गया। स्वतंत्रता संग्राम में भाग लेने के लिए कई स्वतंत्रता सेनानियों को तांबे की प्लेटों से सम्मानित किया गया है। तो क्या अब आपने यह तांबे की थाली भिखारियों को दे दी?  बीजेपी को इसका जवाब देना होगा।‘ 

    शिवसेना सांसद संजय राउत आगे कहा ‘देश मांग करता है कि कंगना को मिले सभी राष्ट्रीय पुरस्कारों को तुरंत वापस लिया जाए। नहीं तो भाजपा को अब आजादी का अमृत मनाने का अधिकार नहीं है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस, महात्मा गांधी, लोकमान्य तिलक, वीर सावरकर और फांसी पर चढ़े सभी क्रांतिकारियों को भीख मांगकर आजादी मिली? भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रधानमंत्री को इस संबंध में अपने विचार व्यक्त करने चाहिए।‘ 

    संजय राउत ने कहा ‘ईडी, सीबीआई, आयकर विभाग, एनसीबी ऐसे काम कर रहे हैं जैसे वह सभी उनके घरेलू नौकर हों। हम यहां हैं, हम तैयार हैं। लेकिन यह हथियार साल 2024 के बाद आप पर वार करेगा। तलवार चलानेवाले तलवार से मरते हैं। एक दिन जब तलवार का हैंडल हमारे पास आएगा, तो हमारे मुंह को छिपाने के लिए कोई जगह नहीं होगी। संजय राउत ने कहा कि आपने कितनी भी साजिशें रची हों, जांच तंत्र इसमें शामिल नहीं होना चाहिए। वीरों की, स्वतंत्रता का अपमान देश कभी बर्दाश्त नहीं करेगा!‘