1982-world-cup-hero-paolo-rossi-laid-to-rest-in-vicenza-roberto-baggio-paolo-maldini-attend-funeral

ताबूत के ऊपर विश्व कप (1982) टी-शर्ट को रखा गया था।

विसेंजा (इटली). इटली के विश्व कप विजेता फुटबॉल कप्तान पाओलो रॉसी (Paolo Rossi) के अंतिम संस्कार में उनके टीम के खिलाड़ियो ने ताबूत उठाया और अंतिम संस्कार में शामिल हुए। फीफा विश्व कप 1982 (World Cup 1982) में टीम को विजेता बनाने में अहम भूमिका निभाने वाले रॉसी का बुधवार को 64 साल की उम्र में निधन हो गया था।

कोराना वायरस (Covid-19) के कारण लागू प्रतिबंधों के कारण इसमें सिर्फ 300 लोगों को शामिल होने की अनुमति थी लेकिन जब उनके पार्थिव शरीर को जब स्टेडियो मेंटी (विसेंजा स्थित फुटबॉल स्टेडियम) में रखा गया तो उनके अंतिम दर्शन के लिए हजारों लोग जमा हो गये। इटली की गज्जेटा अखबार के मुताबिक रॉसी के बेटे एलेसैंड्रो के साथ विश्व कप विजेता टीम के उनके साथी मार्को टेरडेल्ली और एंटोनियो काबरिनि उनके ताबूत को उठाया था। ताबूत के ऊपर विश्व कप (1982) टी-शर्ट को रखा गया था।

काबरिनि ने कहा, ‘‘ मैं सिर्फ अपने टीम के सदस्य को नहीं खोया है मैंने अपने दोस्त और भाई को खोया है। ” रॉसी के सम्मान में सीरि ए (इटली की शीर्ष घरेलू लीग) के मैचों में खिलाड़ी एक मिनट का मौन रखेंगे और हाथ में काले रंग की पट्टी के साथ खेलेंगे। रॉसी ने सट्टेबाजी के मामले में निलंबन से 1980 वापसी के बाद दमदार प्रदर्शन किया और 1982 में अपनी टीम को विश्व चैम्पियन बनाने में अहम भूमिका निभाई।

टीम का नेतृत्व करने के साथ उन्होंने स्पेन में हुए इस विश्व कप में सबसे ज्यादा छह गोल दागे। इसमें ब्राजील के खिलाफ 3-2 की जीत में उन्होंने हैट्रिक लगायी थी। उन्होंने वेस्ट जर्मनी के खिलाफ फाइनल मैच का पहला गोल किया था। इटली ने इस मैच को 3-1 से अपने नाम कर विश्व कप का खिताब उठाया था। वह 1982 में फीफा के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी चुने गये थे। (एजेंसी)