cristiano-ronaldo-becomes-second-mens-player-to-score-100-international-goals

    नियोन (स्विट्जरलैंड). यूएफा (यूरोप में फुटबॉल की शीर्ष निकाय) की मंगलवार को घोषित टूर्नामेंट की आधिकारिक टीम में यूरोपीय चैंपियन इटली के पांच खिलाड़ियों को शामिल किया गया है जबकि इसमें क्रिस्टियानो रोनाल्डो, काइलियान एमबाप्पे और रॉबर्ट लेवांडोव्स्की जैसे दिग्गजों को जगह नहीं दी गयी है। इस टीम की फेडेरिको चिएसा (इटली), इंग्लैंड के रहीम स्टर्लिंग और बेल्जियम के रोमेलु लुकाकू की आक्रामक तिकड़ी को शामिल किया गया हैं।

    क्रिस्टियानो रोनाल्डो और चेक गणराज्य के पैट्रिक स्किक ने टूर्नामेंट में एक समान पांच-पांच गोल किये थे लेकिन यूईएफए के 16 कोचों और पूर्व खिलाड़ियों के विशेषज्ञ पैनल ने पुर्तगाल के दिग्गज खिलाड़ी को गोल्डन बूट पुरस्कार के लिए चुना। लुकाकू ने चार मैचों में चार गोल किये थे। यूरो 2020 टूर्नामेंट के सबसे ज्यादा गोल करने वाले शीर्ष छह खिलाड़ियों में वह इस टीम में जगह पाने वाले इकलौते खिलाड़ी है।

    एमबाप्पे चार मैचों में एक भी गोल नहीं कर सके और स्विट्जरलैंड के खिलाफ अंतिम-16 मुकाबले में उनके निर्णायक स्पॉट किक को गोलकीपर ने रोक लिया जिससे टीम को बाहर का रास्ता देखना पड़ा। फीफा के मौजूदा सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी लेवांडोव्स्की ने तीन मैचों में तीन गोल किये लेकिन उनकी टीम पोलैंड अपने ग्रुप में अंतिम स्थान पर रही। इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन ने चार गोल किए फिर भी इस टीम नहीं बना पाये।

    इसमें हालांकि उनके साथी काइल वॉकर और हैरी मैगुइरे को भी शामिल किया गया है। इटली के दल से इस टीम में टूर्नामेंट के आधिकारिक सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी, गोलकीपर जियानलुइगी डोनारुम्मा, डिफेंडर लियोनार्डो बोनुची और लियोनार्डो स्पिनाजोला के साथ मिडफील्डर जोर्जिन्हो शामिल है। यू

    ईएफए यूरो 2020 टूर्नामेंट की टीम: गोलकीपर: जियानलुइगी डोनारुम्मा (इटली) डिफेंडर: काइल वॉकर (इंग्लैंड), लियोनार्डो बोनुची (इटली), हैरी मैगुइरे (इंग्लैंड), लियोनार्डो स्पिनजोला (इटली) मिडफील्डर: पियरे-एमिल होजबर्ज (डेनमार्क), जोर्जिन्हो (इटली), पेड्री (स्पेन) फॉरवर्ड: फेडेरिको चिएसा (इटली), रोमेलु लुकाकू (बेल्जियम), रहीम स्टर्लिंग (इंग्लैंड)। (एजेंसी)