Flood-hit Assam needs our help: Sunil Chhetri
File Photo

नयी दिल्ली. भारत के सर्वकालिक महान फुटबॉल खिलाड़ियों में शामिल सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) ने कहा कि 2027 एएफसी (एशियाई फुटबॉल परिसंघ) कप (2027 AFC Cup) की मेजबानी मिलना देश के लिए ‘बहुत बड़ी’ बात होगी। अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) (AIFF) ने बुधवार को कहा कि वह 2027 एएफसी एशियाई कप की मेजबानी का दावा पेश करेगा। ब्लू टाइगर्स (भारतीय फुटबॉल टीम) का दो एशियाई कप (2011 और 2019) में नेतृत्व कर चुके छेत्री ने कहा कि यह फुटबॉल के प्रशंसको के लिए ‘सर्वश्रेष्ठ उपहार’ की तरह होगा।

छेत्री ने एआईएफएफ डॉट कॉम से कहा, “अपने देश के लिए खेलने से बड़ा कुछ भी नहीं है और हमारे देश के लिए एएफसी एशियाई कप 2027 की मेजबानी से बड़ा कोई सम्मान नहीं होगा। मुझे लगता है कि यह देश में प्रशंसकों और सभी के लिए सबसे अच्छा उपहार होगा।”

अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल में सक्रिय खिलाड़ियों में सबसे ज्यादा गोल करने के मामले में दूसरे स्थान पर काबिज छेत्री ने कहा, “हमने भारत में 2017 में फीफा अंडर -17 (पुरुष) विश्व कप की मेजबानी की है। यह काफी बड़ी सफलता थी और आप इस टूर्नामेंट से निकलने वाली प्रतिभाओं को देख सकते हैं। हम 2022 में फीफा अंडर -17 महिला विश्व कप की मेजबानी करेंगे। मैं बेसब्री से उसका इंतजार कर रहा हूं।”

उन्होंने कहा, “एशियाई कप 2027 की मेजबानी हासिल करना और एशिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को खेलते हुए देखना बड़ी बात होगी। मैं एआईएफएफ को शुभकामनाएं देता हूं और मुझे आशा है कि हम इसमें सफल रहेंगे।” ‘स्पाइडर मैन’ के नाम से पहचाने जाने वाले राष्ट्रीय टीम के गोलकीपर सुब्रत पॉल ने कहा कि भारत ऐसे टूर्नामेंटों की मेजबानी और ‘वैश्विक फुटबॉल स्थल’ बनने को तैयार है। उन्होंने कहा, “मैं अपने देश का प्रतिनिधित्व करने और अपने प्रशंसकों के सामने बड़े मैचों में खेलने के लिए खुद को बहुत भाग्यशाली मानता हूं। लेकिन, एशियाई कप की मेजबानी से बड़ा कुछ नहीं है।”

उन्होंने कहा, “मुझे लगता है, पिछले कुछ वर्षों में हमारे फुटबॉल के बुनियादी ढांचे और संस्कृति में काफी विकास हुआ है और हम एएफसी एशियाई कप की मेजबानी के लिए तैयार हैं। मुझे कोई संदेह नहीं है कि हमारे प्रशंसक इसे यादगार बनायेंगे और हमारे देश को वैश्विक फुटबॉल के लिए एक गंतव्य बनायेंगे।”

टीम के एक अन्य गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू ने कहा कि इसकी मेजबानी मिलने से भारत में खेलों को काफी बढ़ावा मिलेगा। यूएफा यूरोपा लीग में खेलने वाले पहले भारतीय संधू ने कहा, “पिछले कुछ वर्षों में हमारे प्रदर्शन में लगातार सुधार हो रहा है और ऐसे बड़े टूर्नामेंट की मेजबानी से हमें काफी मदद मिलेगी।”

इस साल अर्जुन पुरस्कार पाने वाले संदेश झिंगन ने कहा कि इस टूर्नामेंट की मेजबानी मिलना हर भारतीय के सपने सच होने जैसा होगा। उन्होंने कहा, “जब हम 2019 में यूएई में एएफसी एशियाई कप में खेल रहे थे तब हमें काफी समर्थन मिला था। अगर एएफसी एशियाई कप 2027 के मैच कोलकाता में खेले गये तो मैं दर्शकों के उत्साह और शोर के बारे में सिर्फ सोच सकता हूं। यह हर भारतीय के लिए किसी सपने की तरह होगा और मुझे उम्मीद है कि यह पूरा होगा।”