Hope we give good account of ourselves in upcoming friendlies, says disappointed Sunil Chhetri

छेत्री (Sunil Chhetri) इस महीने इंडियन सुपर लीग (ISL) के बायो बबल से बाहर आने के बाद कोविड-19 की चपेट में आ गये थे।

    नयी दिल्ली. कोरोना वायरस बीमारी (Covid-19 Positive) की चपेट में आने के कारण ओमान और यूएई (UAE) के खिलाफ खेले जाने वाले मैत्री मुकाबले के लिए भारतीय टीम के साथ दौरे पर नहीं जाने से निराश राष्ट्रीय टीम के कप्तान सुनील छेत्री (Sunil Chhetri) चाहते है कि एशिया की दो मजबूत टीमों के खिलाफ भारतीय खिलाड़ी मौके का पूरा फायदा उठाये।

    छेत्री (Sunil Chhetri) इस महीने इंडियन सुपर लीग (ISL) के बायो बबल से बाहर आने के बाद कोविड-19 की चपेट में आ गये थे। इसी वजह से वह 25 मार्च को ओमान और 29 मार्च यूएई के खिलाफ मैच नहीं खेल पायेंगे। ये दोनों मुकाबले दुबई में खेले जाएंगे।

    छेत्री (Sunil Chhetri) ने अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) की वेबसाइट से कहा, ‘‘पूरे एक साल तक अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से दूर रहना काफी निराशाजनक था। लेकिन ये अभूतपूर्व समय है, जो हमारे नियंत्रण में नहीं हैं। इसलिए, हमारे पास शिकायत करने के लिए ज्यादा कुछ नहीं है। मैं दो मैत्री मैचों को लेकर रोमांचित और शुक्रगुजार हूं जिसमें भारतीय टीम दो मजबूत टीमों के खिलाफ खेलेगी। दुर्भाग्य से मैं इसका हिस्सा नहीं बन पाऊंगा।”

    भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘ इन मैचों से मुझे काफी खुशी हो रही है। मैं हमेशा इस बारे में सोचता रहा हूं कि हम एशिया में बेहतर टीम तभी बन सकते है जब हमें शीर्ष टीमों के खिलाफ खेलने का मौका मिले। ओमान और यूएई उस परिपाटी में फिट बैठते हैं।”

    इस 36 साल के दिग्गज ने कहा, ‘‘ जब मैंने पहली बार संभावित विरोधी टीमों के बारे में सुना था तभी से मैं बेहद उत्साहित था, उस समय हालांकि यह सिर्फ एक संभावना थी। मुझे उम्मीद है कि हम एक टीम के रूप में इस मौके का अधिक से अधिक लाभ उठाएंगे।”

    छेत्री (Sunil Chhetri) ने कहा कि हाल ही संपन्न हुए आईएसएल से भारतीय फुटबॉल को कई प्रतिभाशाली खिलाड़ी मिले हैं। उन्होने कहा, ‘‘ आईएसएल क यह सत्र पूरी तरह से युवाओं के नाम रहा। कई ऐसे खिलाड़ियों ने लगातार अच्छा प्रदर्शन किया जिनके बारे में पहले ज्यादा नहीं पता था। मुझे यकीन है कि हम इसका फायदा उठा पायेंगे।”