एशियाई कप पर जीत का परचम लहराने के लिए टीम इंडिया को बांग्लादेश की हार पक्की करनी होगी

    दोहा. भारतीय फुटबॉल टीम (Indian Football Team) सोमवार को यहां होने वाले विश्व कप (World Cup) और एशियाई कप (Asian Cup) के संयुक्त क्वालीफायर मुकाबले में पड़ोसी देश बांग्लादेश (Bangladesh) के खिलाफ सकारात्मक नतीजा हासिल के लिए बेताब होगी। अगर भारतीय टीम को इस महाद्वीपीय टूर्नामेंट के क्वालीफाइंग प्ले-ऑफ राउंड में खेलकर शर्मसार होने से बचना है तो उन्हें जीत हासिल करनी ही होगी क्योंकि उसके नाम अभी एक भी जीत दर्ज नहीं है। भारत पहले ही विश्व कप में जगह बनाने की दौड़ से बाहर हो चुका है लेकिन 2023 एशियाई कप के लिये उसकी उम्मीद बरकरार है। भारत छह मैचों में महज तीन अंक से ग्रुप ई में चौथे स्थान पर बना हुआ है और उसने एशियाई कप क्वालीफायर के तीसरे दौर में स्वत: स्थान पक्का नहीं किया है। 

    प्रत्येक आठ ग्रुप से चौथे स्थान पर रहने वाली केवल सर्वश्रेष्ठ चार टीमें एशियाई कप क्वालीफायर के तीसरे दौर के लिये सीधे क्वालीफाई करेंगी। चौथे स्थान पर रहने वाली चार टीमें और आठ ग्रुपों में सभी निचले स्थान पर रहने वाली टीमें एक प्ले-ऑफ राउंड में खेलेंगे जिसमें से आठ टीमें फिर से क्वालीफाइंग प्रक्रिया में प्रवेश करेंगी। चौथे स्थान पर रहने वाली छह टीमों के अभी भारत से ज्यादा अंक हैं। इसका मतलब है कि इगोर स्टिमक के खिलाड़ियों को अगर एशियाई कप के तीसरे क्वालीफाइंग दौर में जगह बनाने का मौका बनाना है ताो उसे बांग्लादेश को हराना ही होगा। सोमवार को अगर भारत जीत जाता है तो यह उसकी विश्व कप क्वालीफायर में छह वर्षों में पहली जीत होगी। पिछली बार भारत ने नवंबर 2015 में दर्ज की थी जिसमें उसने बेंगलुरू में 2018 विश्व कप क्वालीफाइंग दौर के मैच में गुआम के खिलाफ 1-0 का नतीजा हासिल किया था। 

    कोच स्टिमक गुरूवार को एशियाई चैम्पियन कतर से मिली 0-1 की हार से इतने निराश नहीं होंगे क्योंकि वे 18वें मिनट के बाद से ही 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रहे थे। इससे टीम का खोया मनोबल वापस आया होगा क्योंकि उन्हें मार्च में संयुक्त अरब अमीरात से अंतरराष्ट्रीय मैत्री मैच में 0-6 से हार मिली थी। भारतीय टीम 105वीं रैंकिंग पर काबिज है और बांग्लादेश 184वीं रैंकिंग पर है तो इससे पलड़ा तो भारत का ही भारी होगा। भारत ने विश्व कप क्वालीफाइंग राउंड में दो बार बांग्लादेश को हराया है, हालांकि ये जीत उसे 1985 में मिली थी। सीनियर डिफेंडर संदेश झिंगन ने कहा, ‘‘हमने दोहा में अभी तक खाता नहीं खोला है। हमें बांग्लादेश के खिलाफ मैच पर ध्यान लगाना होगा और फिर इसके बाद अफगानिस्तान के खिलाफ मैच पर।” 

    संदेश झिंगन ने कतर के खिलाफ मैच में दूसरे हाफ में कप्तानी की जिम्मेदारी संभाली थी क्योंकि सुनील छेत्री पहले 45 मिनट ही खेले थे। लेकिन भारत आत्ममुग्ध नहीं हो सकता क्योंकि बांग्लादेश भी कड़ी प्रतिद्वंद्वी टीम हो सकती है जैसा कि उन्होंने 2019 में कोलकाता में इस क्वालीफायर के पहले चरण में दिखाया था, जब उन्होंने पहले बढ़त हासिल कर ली थी। लेकिन डिफेंडर आदिल खान ने उस मैच में हेडर से गोल कर भारत को ड्रा कराने में मदद की थी। बांग्लादेश के दो अंक हैं और वह ग्रुप में निचले स्थान पर है। उसने अफगानिस्तान के खिलाफ 1-1 से ड्रा खेला था। 

    भारतीय टीम इस प्रकार है :

    गुरप्रीत सिंह संधू, अमरिंदर सिंह, धीरज सिंह, प्रीतम कोटल, राहुल भेके, नरेंदर गहलोत, चिंग्लेनसाना सिंह, संदेश झिंगन, आदिल खान, आकाश मिश्रा, सुभाशीष बोस, उदांता सिंह, ब्रैंडन फर्नांडिज, लिस्टन कोलासो, रॉलिन बोर्जेस, ग्लैन मार्टिन्स, प्रणय हलदर, सुरेश सिंह, लालेंगमाविया राल्टे, अब्दुल सहल, यासिर मोहम्मद, लालियांजुआला चांगते, बिपिन सिंह, आशिक करूनियान, इशान पंडिता, सुनील छेत्री और मनवीर सिंह। मैच भारतीय समयानुसार शाम साढ़े सात बजे शुरू होगा। (एजेंसी)