लोक अदालत से 1 करोड़ 14 लाख की वसूली

  • कुल 94 मामलों का निपटारा

गडचिरोली. जिले के न्यायालय में 12 दिसंबर को समझौते के लिए पात्र दिवाणी व फौजदारी मामले तथा दाखिलपूर्व अन्य मामलों के लिए राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया था. इस माध्यम से 94 मामले आपसी समझौते से हल किए गए. इससे कुल 1 करोड 14 लाख 396 रुपयों की वसुली की गई. 

प्रमुख जिला व सत्र न्यायाधीश तथा जिला विधी सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष एस. सी. खटी, सचिव डी. डी. फुलझेले इनके निगरानी में लोक अदालत का आयोजन किया गया था. पैनल क्र. 1 पर पैनल प्रमुख के रूप में जिला न्यायाधीश आर. एन. मेहरे ने काम संभाला. पैनल क्रमांक 2 पर दिवाणी न्यायाधीश एम. आर. वाशिमकर ने काम संभाला, पैनल क्र. 3 पर सहदिवाणी न्यायाधीश एन. पी. वासाडे ने काम संभाला. पैनल क्र. 1 में पैनल सदस्य के रूप में अधिवक्ता एस. एल. जनबंधू, विधी स्वयंसेवक अकील शेख, पैनल क्रमांक 2 में अधिवक्ता सोनाली मेश्राम, विधी स्वयंसेविका वर्षा मनवर, पॅनल क्रमांक 3 में अधिवक्ता अमित तागडे, सामाजिक कार्यकर्ता दिनेश बोरकुटे ने काम संभाला. 

लोक अदालत के सफलता के लिए जिला वकील संघ के वरीष्ठ अधिवक्ता व वकील संघ, न्यायालयीन कर्मचारी, जिला विधी सेवा प्राधिकरण के कर्मचारियों ने सहयोग किया. 

धानोरा में 7 मामलों का निपटारा

यहां राष्ट्रीय लोक अदालत के माध्यम से कुल 31 प्रलंबित मामलों में से 3 वैवाहिक मामले तथा 17 दाखिलपूर्व मामलों में से 4 राशी वसुली के मामले ऐसे कुल 7 मामले आपसी समझौते से हल किए गए. इस माध्यम से 63 हजार 686 रूपयों की वसुली की गई. उक्त लोकअदालन का आयोजन जिला व सत्र न्यायाधीश एस. सी. खटी, सचिव डी. डी. फुलझेले इनके निगरानी में किया गया था. सफलतार्थ तहसील वकील संघ के वरीष्ठ अधिवक्ता तथा वकील संघ तथा न्यायालयीन कर्मचारी लघूलेखक सी. आर. खोब्रागडे, वरिष्ठ लिपीक वी. एम. मोहुर्ले, वी. एन. सहारे, कनिष्ठ लिपीक टी. डी. खोब्रागडे, ए. एम. कोडाप, चपरासी पी. बी. न्यालेवार, एम. एम. कुमोटी ने सहयोग किया.