शराबमुक्त चुनाव के लिए 407 गावों का प्रस्ताव – 3 हजार से अधिक उम्मीदवारों का संकल्प

गड़चिरोली. जिले के 361 ग्रामपंचायत के चुनाव आनेवाले 15 और 20 जनवरी ऐसे दो चरण में होनेवाले है. गाव विकास के लिए शराबमुक्त चुनाव काफी महत्वपूर्ण होकर मुक्तीपथ ने ‘शराबमुक्त चुनाव’ अभियान चलाया है. अब तक 407 गावों ने प्रस्ताव लिया है. ‘मै मतदाताओं को शराब की लालच नहीं दिखाउंगा ‘, ऐसा संकल्प 3 हजार से अधिक उम्मीदवारों ने किया है. यह संकल्पना चलानेवाला गडचिरोली एकमात्र जिला साबित हुआ है. 

विधानसभा व लोकसभा चुनाव शराबमुक्त हो इसके लिए गडचिरोली जिले के गाव गाव से सभा लेकर प्रस्ताव लिया था. खडे रहनेवाले हर उम्मीदवार की ओर से ‘चुनाव के दौरान शराब का वितरण नहीं करेंगे, मै शराबबंदी का समर्थन करता हू’, ऐसा संकल्प पत्र लिखकर लिया गया था. उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार के दौरान शराब का उपयोग नहीं करने देंगे, शराब स्वीकार नहीं करेंगे तथा होश में रहकर मतदान करेंगे, ऐसा गाववासियों ने निश्चित कर पिछले विधानसभा व लोकसभा चुनाव सफल किया.

उसी तरह ग्रामपंचायत चुनाव भी शराबमुक्त करने के लिए मुक्तीपथ का प्रयास शुरू है. इसके लिए मतदाता व प्रशासन सहयोग कर रही है. शराबमुक्त चुनाव संदर्भ में चुनाव के दौरान गाव गाव में जनजागृती कर प्रस्ताव लेना, वचननामे पर उम्मीदवार व पैनल प्रमुख का हस्ताक्षर लेना, गाव संगठन के माध्यम से अहिंसक कृती करना, शराबबिक्रेताओं को पुलिस के हवाले करना, इस तरह से इस वर्ष का चुनाव शराबमुक्त चुनाव होगा.

उम्मीदवारों की ओर से वचननामा

गाव के हित के लिए ग्रामपंचायत शराबमुक्त होना आवश्यक है. इसके लिए उम्मीदवारों की ओर से ‘चुनाव कालावधि में ‘मै शराब का वितरण नहीं करूंगा, शराब का सेवन नहीं करूंगा’ ऐसा वचननामा लिखकर लिया जा रहा है. साथ ही पैनल प्रमुख भी गाववासियों को वचन दे रहे है की, हम व हमारे उम्मीदवार वोट मिलाने के लिए शराब वितरित नहीं करूंगा.

गाव के व जिले के शराबबंदी का हमारा पैनल पूरा समर्थन करता है, ऐसे आशय के पत्र पर पैनल पर प्रमुख का भी हस्ताक्षर लिया जा रहा है. अब तक 3 हजार उम्मीदवारों ने शराबमुक्त चुनाव का संकल्प किया है. तथा 407 गावों ने प्रस्ताव लिया है. यह नया उपक्रम शुरू करनेवाला एकमात्र गडचिरोली जिला साबित हुआ है.