arrested

चामोर्शी. बिजली कनेक्शन पर लोहे के तार डालकर चितल की शिकार करने के मामले में 5 आरोपीओं को वनविभाग ने गिरफ्तार करने की घटना बुधवार 13 जनवरी को चामोर्शी उपक्षेत्र के हलदी नियतक्षेत्र में राखीव वनखंड क्र. 348 में घटी. शिकार करनेवाले आरोपीयों में चामोर्शी तहसील के दो हलदी चक निवासी आनंदराव नामदेव शेंडे (38), बालाजी गणपती वाकडकर (57), दो हलदी माल निवासी अशोक उष्टू आगरे (23), सदाशिव सोमाजी झबाडे (56) और एक मुल तहसील के भेजगांव निवासी विकास कावरू गेडाम (21) का समावेश है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार चामोर्शी वनपरिक्षेत्र अंतर्गत आनेवाले उपक्षेत्र के हलदी नियतक्षेत्र राखीव वनखंड क्र. 348 से जानेवाले हलदी से सेल्लूर सडक नजीक बिजली कनेक्शन पर लोहे का बारिक तार डालकर चितल इस वन्यप्राणी की अवैध शिकार करने की जानकारी वनविभाग को मिली. इस जानकारी के आधार पर वनपरिक्षेत्र अधिकारी पी. आर. लेले के मार्गदर्शन में चामोर्शी उपक्षेत्र के वनकर्मचारियों के गस्तपथक महावितरण कर्मचारियों को साथ में लेकर घटनास्थल पर दाखिल हुए.

वन कर्मचारियों को घटनास्थल पर मृत चितल दिखाई दिया. आस पास परिसर में खोज मुहीम चलाने पर, घटनास्थल से करीबन 150 मीटर बांस पर लगाए हुए लोहे का बारीक तार पाया गया. घटना संदर्भ में हलदी गाव में चांज करने पर आनंदराव शेंडे, बालाजी वाकडकर, अशोक आगरे, सदाशिव झबाडे, विकास गेडाम के नाम उजागर हुए. जांच के लिए 5 व्यक्तीओं को कब्जे में लेने पर, उन्होंने अपराध कबुल किया. आरोपीओं के खिलाफ वन अपराध अंतर्गत 13 जनवरी को मामला दर्ज कर कार्रवाई की गई. आरोपीओं को न्यायालय में पेश करने पर, न्यायालय ने उन्हें 2 दिन की वनकस्टडी सुनाई है. 

घटना की अधिक जांच आलापल्ली वनविभाग के उपनवनसंरक्षक सी. आर. तांबे, सहाय्यक वनसंरक्षक (तेंदू) एस. पी. पवार के मार्गदर्शन में चामोर्शी के वनपरिक्षेत्र अधिकारी पी. आर. लेले, क्षेत्र सहाय्यक पी. एम. मुनघाटे, जामगिरी के क्षेत्र सहाय्यक पी. आर. आनकरी, भाडभिडी के क्षेत्र सहाय्यक आर. एम. नरुले, वनपाल पी. के. भडांगे, वनरक्षक ए. व्ही. साखरे, व्ही. यु. मेश्राम, अक्षय राऊत, के. ए. वैरागडे, बी. डी. राठोड, पी. एन. राजूरकर, व्ही. जी. लांजेवार व वनकर्मचारी कर रहे है.